भारत और रूस की द्विपक्षीय व्यापारिक एवं आर्थिक संबंधों पर हुई चर्चा

नयी दिल्ली- भारतीय विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला के हाल में रूस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी के तहत द्विपक्षीय व्यापारिक एवं आर्थिक संबंधों पर चर्चा की गयी।

रूस में भारतीय दूतावास की ओर से जारी वीडियो बयान में हर्ष वर्धन श्रृंगला ने बताया कि रूसी उपप्रधानमंत्रियों रेब्कोव और इगोर तथा विदेश मंत्री सरगेई लावरोव समेत अन्य उच्चाधिकारियों से द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक हित के मुद्दों पर चर्चा हुई।

इसी सप्ताह 17 और 18 फरवरी को दो दिवसीय रूस यात्रा पर पहुंचे हर्ष वर्धन श्रृंगला ने कहा कि भारत और रूस उच्च प्रौद्योगिकी पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। उन्होंने दोनों देशों के बीच बढ़ते निवेश का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीय कंपनियां एलएनजी और कोकिंग कोल जैसे क्षेत्रों में निवेश करना चाहती हैं जबकि रूसी कंपनियाें ने अंतरदेशीय जलमार्ग, रेलवे और इस्पात के क्षेत्र में रुचि दिखायी है।

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से की बातचीत, म्यांमार समेत आपसी सहयोग पर की चर्चा

उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने चेन्नई-व्लादिवोस्तोक गलियारे का परिचालन के संदर्भ उत्सुकता जतायी है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन निर्माण के साथ ही अफगानिस्तान के मुद्दों और संयुक्त राष्ट्र में सहयोग के संंबंध में भी चर्चा की गयी।

हर्ष वर्धन श्रृंगला ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर भारत यात्रा पर आने वाले हैं और इसकी तिथि तय की जायेगी। इससे पहले लावरोव भारत आयेंगे।

इन्पुट- यूनीवार्ता