कालपी कोतवाली क्षेत्र के बिहारी घाट पर गुरुवार की शाम लगभग 6 बजे यमुना नदी में डूबे दो युवकों के शव रात भर चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद लगभग 12 घंटे बाद बरामद हो गए हैं। रात भर चले इस रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद गोताखोरों ने बिहारी घाट से कुछ दूरी पर ही दोनों युवकों के शवों को बरामद कर लिया है, इस रेस्क्यू ऑपरेशन में पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी, तब कहीं जाकर इनके शव बरामद किए जा सके। बता दे कि कालपी कोतवाली क्षेत्र के यमुना नदी के किला घाट स्थित बिहारी मंदिर पर कालपी के रहने वाले पांच मित्र राहुल द्विवेदी पुत्र बबलू द्विवेदी निवासी कागजीपुरा, कन्हैया दीक्षित पुत्र मोहन दीक्षित निवासी दमदमा कालपी, प्रांशु निवासी बड़ा बाजार कालपी, अर्पित सोनी और रामलखन निवासी मिर्जा मंडी कालपी देर शाम 5:30 बजे के करीब दर्शन करने के लिए गए हुए थे, जहां उन्होंने यमुना नदी में नहाने का मन बना लिया, पांचों लोग यमुना नदी में नहाने समय, नदी की बीच धार में पहुंच गये, जहां गहराई होने के कारण उनका संतुलन बिगड़ गया, जिस कारण पांचों लोग डूबने लगे थे। सभी युवकों यमुना नदी में डूबते हुये वहां मौजूद लोगों ने देखा तत्काल युवकों को बचाने के प्रयास में नदी में कूदे थे, जहां उन लोगों ने 3 मित्र प्रांशु, अर्पित सोनी तथा रामलखन को बचा लिया था, लेकिन राहुल और कन्हैया युमना की बीच धार में पहुंच जाने के कारण डूब गये थे,, इस घटना की जानकारी तत्काल पुलिस को दी गई थी सूचना मिलते ही पुलिस गोताखोरों के साथ मौके पर पहुंची थी, जहां उन्होंने गोताखोरों की मदद से युवकों को खोजने का प्रयास किया था, लेकिन धीरे-धीरे अंधेरा होने के कारण गोताखोर यमुना नदी से बाहर आ गए थे, वही पुलिस ने रोशनी की व्यवस्था कर गोताखोरों की मदद से युवकों का पता लगाने का प्रयास किया था, जिनके शव को पुलिस और गोताखोरों ने लगभग 12 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद खोज निकाला, इसमें रातभर पुलिस व गोताखोर रेस्क्यू में लगे रहे, पुलिस ने यमुना नदी के पास लाइट की व्यवस्था की थी, तब कहीं जाकर गोताखोर पानी में उतरे थे और रात भर कड़ी मशक्कत के बाद दोनों के शव को निकाल सके।
इस मामले में कालपी क्षेत्राधिकारी वीरेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि युवकों को खोजने का प्रयास रात भर चला जिसमें एक युवक का शव लगभग 3 और एक युवक का शव लगभग 7:00 बजे बिहारी घाट के समीप ही मिला जिनके शव को बाहर निकाल कर पोस्ट मार्टम के लिये भेज दिया।