सिरोही-महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती तथा स्वतत्रंता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में ‘‘आजादी की अमृत महोत्सव’’ के तहत डाॅ. भीमराव अम्बेडकर जयंति के अवसर पर नगर परिषद् सिरोही के सभागार में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन अतिरिक्त जिला कलेक्टर गितेश श्री मालवीय की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। भारत रत्न डाॅ भीमराव अम्बेडकर एवं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीरों पर पुष्पांजलि अर्पित कर अतिरिक्त जिला कलक्टर गितेश श्री मालवीय ने बाबा साहब के मानव उत्थान पर किये गये प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए राज्य में कोरोना महामारी से बचने, अमन चैन, सुख शान्ति की कामना की। कार्यक्रम में प्रोफेसर डाॅ रीना श्रीवास्तव, जी आर गोयल पूर्व प्राचार्य काॅलेज शिक्षा, एम एल मारू सेवानिवृत उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने अपने विचार व्यक्त किये।
डाॅ रीना श्रीवास्तव ने बाबा साहब के जीवन दर्शन पर प्रकाश डालते हुए उनके जन्म से लगाकर आजीवन किये गये प्रयासों को साझा किया। जीआर गोयल ने बाबा साहब के दर्शन को कई उदाहरणों व अपने जीवन के वास्तविक अनुभवों से समझाया। एम एल मारू ने बाबा साहब के आदर्शों व शिक्षा को समाज में अपनाकर कैसे समाज का सर्वांगीण विकास किया जा सकता है इसे बहुत ही बारीकी से समझाया। कार्यक्रम के संचालक दिलीप कुमार शर्मा ने बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर पर एक स्वरचित कविता प्रस्तुत कर कार्यक्रम की खूबसूरती को और बढा दिया। गांधी दर्शन समिति के जिला संयोजक राजेन्द्र सांखला ने डाॅ भीमराव अम्बेडकर के संघर्ष व शिक्षाओं से सीख लेने व उन्हें जीवन में उतारने का आह्वान किया।
इस मौके पर बाल कल्याण समिति सहायक निदेशक राजेन्द्र पुरोहित, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक बाबुलाल गरासिया , जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी मंगलाराम, नगर परिषद सिरोही के आयुक्त महेन्द्र सिंह चैधरी, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष हेमलता शर्मा, ब्लाॅक सह संयोजक जयन्ती माली, समाज सेवी राजेन्द्र माली, रफीक मोहम्मद, अशोक कुमार, हेमन्त कुमार, बाबुलाल इत्यादि कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन दिलीप कुमार शर्मा, वअ महात्मा गांधी विद्यालय सिरोही ने किया।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल राजस्थान ब्यूरो चीफ