जालौन :: कहते हैं कि पुलिस जब रात भर जागती है तब हम लोग अपने घरों में सुरक्षित और सुकून से सो सकते हैं। मामला जनपद जालौन के कुठौंद थाना क्षेत्र का है जहां पर पुलिस की सतर्कता से एक परिवार की खुशियां उनसे दूर होने से बच गई। मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि बीती मध्य रात्रि के बाद लगभग 1:30 बजे रात्रि गश्त के दौरान कुठौंद पुलिस को 6 साल की मासूम रोती हुई सड़क पर मिली। गश्त कर रहे पुलिस कर्मियों ने पहले तो मासूम को बिस्किट और चॉकलेट देकर शांत कराया और प्यार से जब उससे नाम पूछा गया तो उसने अपना नाम पार्वती पुत्री पप्पू यादव बताया लेकिन मासूम अपने घर के बारे में स्पष्ट तरीके से नहीं बता पा रही थी। तब पुलिसकर्मी को अपने साथ ले आए और उसके माता-पिता की तलाश करनी शुरू कर दी। अथक प्रयास के बाद पुलिस कर्मियों द्वारा मासूम के परिजनों को ढूंढ लिया गया। एवं मासूम बच्ची को उनके सुपुर्द कर दिया गया। बच्ची को देख परिजनों के चेहरे पर एक अलग ही चमक देखने को मिली।


हम सुरक्षित हैं क्योंकि दिन-रात हमारी पुलिस मुस्तैद : मासूम के परिजन

अक्सर आपने देखा होगा कि लोग पुलिस से दूर रहना ही पसंद करते हैं लेकिन जनपद जालौन की कुठौंद पुलिस की सतर्कता के करण पुलिस चर्चा का विषय बनी हुई है। लोग अक्सर तारीफ करते देखे जा सकते हैं कि वास्तव में पुलिस मित्र पुलिस है। जब मासूम को पुलिस द्वारा परिजनों को सौंपा गया तो मासूम के परिजनों ने तहे दिल से पुलिसकर्मियों का शुक्रिया अदा किया और भगवान से पुलिसकर्मियों के लंबे स्वास्थ्य की कामना भी की, मासूम के परिजनों का कहना था कि पुलिस की सतर्कता के कारण ही आज उनकी मासूम बच्ची उनके साथ है। वह गर्व के साथ कह सकते हैं कि वह सुरक्षित हैं और उनके जनपद की पुलिस रात दिन मुस्तैद रहती है।



रिपोर्ट :: दीपू द्विवेदी