उज्जैन। उज्जैन शहर की तुलना बड़े शहरों में की जाने लगी है इसीलिए शहर की कई प्रतिभाएं हैं जो अपनी कला दिखाने में पीछे नहीं हटते। ऐसे ही एक शहर के सेठी नगर के वल्लभ नगर निवासी हरीश तिवारी हैं। हरीश तिवारी एक प्राइवेट मेडिसिन कंपनी में एरिया मैनेजर के पद पर कार्यरत है। हरीश तिवारी विगत 18 वर्षों से पवित्र नदी मां शिप्रा की मिट्टी का निर्माण स्वयं के घर पर ही करते हैं। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी उन्होंने शिप्रा की मिट्टी से 3 फ़ीट की मूर्ति बनाई है। हरीश हर वर्ष मूर्ति का निर्माण अपने घर में ही बप्पा को विराजित करने के उद्देश्य से करते हैं और भगवान गणेश की मूर्ति को घर में विराजित कर अपनी पत्नी अंजलि और दो बच्चे अथर्व और उर्वी के साथ 10 दिनों तक बप्पा की पूजा करते हैं। तिवारी उज्जैन शहर के एक बहुत ही उम्दा गायक भी है। मोहम्मद रफ़ी की आवाज़ में हर वर्ष कालिदास अकादमी में अपनी सुरीली आवाज़ से दर्शकों का मन मोह लेते हैं।

रिपोर्ट – आसिफ खान