टोक्यो: जापान सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को राेकने के एक प्रयास के तहत टोक्यो और तीन पड़ोसी प्रांतों में आपातकाल घोषित करने की योजना बनायी है। जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने यहां सोमवार को देर शाम एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार टोक्यो के साथ-साथ साइतामा, चिबा और कनागावा प्रान्तों में भी आपातकाल लागू करने की तैयारी में है। उन्होंने कहा कि नागरिकों को एक कड़ा संदेश देने की जरूरत है |

इन क्षेत्रों में नये साल के पहले तीन दिनों के दौरान बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये हैं। यहां तक कि देश में कोरोना के कुल मामलों में से आधे इन्हीं क्षेत्रों के हैं।

Also Read: महाराष्ट्र में दोहराया जा रहा आपातकाल का इतिहास


PM सुगा ने कहा कि आपातकालीन उपायों को सोच समझकर योजनाबद्ध तरीके से लागू किया जायेगा, ताकि सामाजिक और आर्थिक गतिविधियां कम से कम प्रभावित हों। उन्होंने बताया कि तीनों प्रांतों की सरकारों के सहयोग के साथ जापान सरकार ने आयोजनों पर नियमों को कड़ा करने और दूरस्थ कार्य योजनाओं को अपनाने के लिये व्यवसाय को प्रोत्साहित करने की योजना बनायी है। इन क्षेत्रों में स्कूल दोबारा खुल सकते हैं और वायरस के प्रसार को रोकने के उपायों के साथ मानकीकृत विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षाएं 16 जनवरी से योजनाबद्ध रूप से शुरू होंगी। एनएचके समाचार के मुताबिक अगर आपातकाल लगाया जाता है तो यह लगभग एक महीने तक लागू रह सकता है।