शिवगंज( सिरोही):- वैश्विक महामारी से बचने के लिए सरकार कड़े कदम उठा रही है। सरकार हर हाल में संक्रमण की चेन को तोड़ने के भरसक प्रयास में है। लेकिन सरकार के ही सरकारी अस्पताल के कर्मचारी अस्पताल में अपनी सरकार चला रहे हैं। और बिना डरे बेखौफ महामारी के संक्रमण को निमंत्रण दे रहे हैं। मामला राजस्थान के सिरोही जनपद के शिवगंज कस्बे का है। जहां सुबह जब न्यूज़ क्रांति की टीम उपखंड में बने राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची तो वहां की व्यवस्थाएं देखकर चौक गई। आपको बता दें कि अस्पताल के कर्मचारी बिना किसी से डरे संक्रमण की जांच में लगे हुए थे। लोगों की कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही थी। लेकिन सबसे बड़ी लापरवाही तो यह है कि ना तो स्वास्थ्य कर्मी पीपीई कित पहने थे ना ही 2 गज की दूरी थी मरीज आपस में सट्टे बैठे थे। और तो और जिनकी कोरोना संक्रमण की जांच हो रही थी वह आम मरीजों के साथ बैठकर ही जांच करवा रहे थे। राजकीय स्वास्थ्य केंद्र में इतनी बड़ी लापरवाही महामारी को दोबारा आमंत्रण दे रही है और जिम्मेदार मौन बने बैठे हैं आखिर जिसको संक्रमण के बारे में सभी को समझाना चाहिए वही नियमों को ताक पर रखकर ऐसा कर रहे हैं तो बाकी लोक कैसे जागरूक होंगे।

और तो और यह संक्रमण की जांच का काम राजकीय चिकित्सालय के चिकित्सा प्रभारी एवं डॉक्टरों के ऑफिस के बाहर ही चल रहा था और आम मरीज छोटे-मोटे इलाज करवाने के लिए चिकित्सा प्रभारी के पास आ जा रहे थे और वहीं पास में ही कोरोना वायरस की जांच भी हो रही थी।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल राजस्थान ब्यूरो चीफ