कायमगंज / फर्रुखाबाद :भारतीय किसान एसोसिएशन द्वारा नगर के समीप स्थित गांव इनायत नगर में किसान पंचायत आहूत की गई । जिसमें किसान नेताओं के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने भी भाग लिया ।आहूत पंचायत के बाद हस्ताक्षर युक्त जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस समय क्षेत्र में डेंगू मलेरिया वायरल सहित विचित्र बुखार का भारी प्रकोप व्याप्त है।

लेकिन सरकारी अस्पताल में दवाइयों के साथ ही स्टाफ की कमी है। आरोप है कि मानवता को ताक पर रखकर नगर सहित पूरे क्षेत्र मेंआगरा मेड नकली दवाएं पीड़ित मरीजों के पर्चों पर बेची जा रही हैं । जिनसे कोई लाभ नहीं हो रहा है। यह सब खेल  ड्रग इंस्पेक्टर की धनलोलुप्ता के कारण खुलेआम हो रहा है ।

पंचायत में कहा गया कि चीनी ,खाद्य तेल, दालें जैसी रोजमर्रा की जरूरी चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं। वही डालडा, रिफाइंड ,खाद्य तेलों एवं ज्ञान डेरी उत्पाद मक्खन, दूध ,घी आदि में अखाद्य वस्तुओं की मिलावट खोरी बड़े पैमाने पर करके जन सामान्य के साथ उनके स्वास्थ्य से खुला खिलवाड़ किया जा रहा है। कहा गया है कि ज्ञान डेयरी उत्पाद के सैंपल कई बार जांच में फेल हो चुके हैं।

परंतु फिर भी शासन और प्रशासन न जाने क्यों आंखें बंद करके बैठा है। किसान नेताओं का यह भी कहना था कि जिला स्तर से लेकर तहसील स्तर तक कहीं भी किसानों की जायज समस्याओं तक का निस्तारण करने में अधिकारी और कर्मचारी कोई रुचि नहीं ले रहे हैं। निर्दोष एवं पीड़ित किसानों पर ही 107 / 16 जैसी धाराओं में अनावश्यक रूप से निरोधात्मक कार्यवाही की जा रही है।

पुलिस तो इस समय निरंकुशता की सभी सीमाएं पार करती जा रही है ।पंचायत में अपने विचार व्यक्त कर किसान नेता रागिव हुसैन खां, प्रताप सिंह गंगवार, विनीत कुमार, मुन्ना लाल सक्सेना आदि ने इन समस्याओं पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए समय रहते निराकरण की मांग की है।

रिपोर्ट जयपाल सिंह यादव/दानिश खा