बिहार (सुपौल): माले ,खेग्रामस, किसान महासभा और आइसा के कार्यकर्ताओं की एक बैठक सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज अनुमंडल क्षेत्र मे विज्ञान महाविद्यालय के प्रांगण में किसान नेता नवल किशोर मेहता के अध्यक्षता में हुआ । जिसमें सर्वप्रथम कार्यकर्ताओ ने किसान आंदोलन में शहीद किसानों को श्रद्धांजलि दी। सभा को संबोधित करते हुए किसान महासभा के जिला अध्यक्ष अच्छेलाल मेहता ने कहा कि चितरा नक्षत्र के बारिश से हुए हज़ारो एकड़ फसल की बरबादी की मुआवजा को अविलंब दिया जाए जिससे किसान आगे की फसल कर सके। अनुमंडल सहित सुपौल जिले भर में डीएपी,पोटाश के किल्लत को 72 घण्टे के अंदर पूरा किया जाय वरना माले जबरदस्त आंदोलन करेगी ।

भाकपा माले के जिला सचिव जयनारायन यादव ने कृषि कानून के वापसी पर संतोष जताते हुए कहा कि हम मांग करते हैं कि सरकार तमाम जनविरोधी कानून जैसे यूएपीए,सीएए,श्रम संसोधन कानून,बिजली अधिनियम, नई शिक्षा नीति को वापस ले एवम निजीकरण पर तत्काल रोक लगाए और किसानों के हत्या के आरोपी के पिता अजय मिश्रा की बर्खास्तगी हो । भाकपा माले हमेशा से किसान आंदोलन में किसान संगठन के साथ लड़ी है और हम सरकार से मांग करते हैं कि देश मे स्वामीनाथन आयोग एवम बिहार में डी बंदोपाध्याय आयोग के सभी सिफारिशों को लागू किया जाए । आइसा के जिला सचिव डॉ अमित चौधरी ने विश्वविद्यालय में पुस्तक के खरीद पर हुए घोटाले पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली के दरियागंज मंडी से पुराने संस्करण की किताबें खरीदी गई है,दरअसल विश्वविद्यालय में पुस्तको की खरीद एक ही कम्पनी इंडिका पब्लिकेशन को दे दिया गया है।

मगध विश्विद्यालय में विजिलेंस ने घोटाले को पकड़ा है,पाटलिपुत्र विश्विद्यालय मे बिना भवन के ही पांच करोड़ का अलमीरा ,किताबे की खरीद कर ली गई है। आइसा इस गहरे साजिश की उच्चस्तरीय जांच करवाने की मांग करता है अन्यथा आइसा इसके खिलाफ आंदोलन करेगा। सभा मे उतपल राई, फुलेश्वर यादव,पुरनी देवी,रामदेव यादव,सुरेश मण्डल,श्रवण शर्मा,राजिंदर यादव ,आनंदी सरदार यादव,जन्मजेय राई,मो रज्जाक,रविकांत रवि,सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

रिपोर्टर: संतोष कुमार