निजी ट्रेनों के परिचालन की निविदाओं के जवाब में 15 कंपनियों से रेलवे को 120 आवेदन प्राप्त हुये हैं। रेलवे ने 12 क्लस्टरों में 140 मार्गों पर सार्वजनिक निजी भागीदारी (PPP Model) के तहत निजी ट्रेनें चलाने के लिए 01 जुलाई को ‘Request for qualification’ (RFQ) आमंत्रित किया था। सभी क्लस्टर मिलाकर निजी कंपनियों को कुल 151 अत्याधुनिक ट्रेनें लानी होंगी। ट्रेनों के परिचालन में निजी कंपनियों को अनुमति देने से रेलवे के क्षेत्र में 30 हजार करोड़ रुपये का निवेश आने की उम्मीद है।


रेलवे ने बताया कि आज RFQ आज खोले गये। बारह क्लस्टरों के लिए जारी अलग-अलग निविदाओं के जवाब में 14 भारतीय और स्पेन की एक कंपनी समेत कुल 15 आवेदकों से 120 आवेदन प्राप्त हुये हैं। आवेदकों में एलएंडटी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्रोजेक्ट लिमिटेड, GMR Highways Limited, BHEL और भारतीय रेलवे पर्यटन एवं खानपान निगम (IRCTC) शामिल हैं।

रेलवे ने बताया कि मुंबई2 और दिल्ली2 क्लस्टरों के लिए 12-12 आवेदन; बेंगलुरु क्लस्टर के लिए 11 आवेदन; दिल्ली1, प्रयागराज, सिकंदराबाद और जयपुर क्लस्टरों के लिए 10-10 तथा मुंबई1, चंडीगढ़, हावड़ा, चेन्नई और पटना क्लस्टरों के लिए नौ-नौ आवेदन आवेदन प्राप्त हुये हैं।


एलएंटी, जीएमआर, भेल और आईआरसीटीसी के अलावा आवेदन करने वाली अन्य भारतीय कंपनियों में अरविंद एविएशन, क्यूब हाईवेज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर 3 प्राइवेट लिमिटेड, गेटवे रेल फ्रेट लिमिटेड, आईआरबी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स लिमिटेड, मलेमपति पावर प्राइवेट लिमिटेड, मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रा स्ट्रक्चर लिमिटेड, पीएनसी इंफ्राटेक लिमिटेड, आर.के. एसोसिएट्स एंड होटेलियर्स प्राइवेट लिमिटेड, साईनाथ सेल्स एंड सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड और वेलस्पन इंटरप्राइजेज लिमिटेड शामिल हैं। एक मात्र विदेशी कंपनी स्पेन की ‘कंस्ट्रक्शन वाई ऑग्जिलियर डी फेरोकैरिल्स’ है। RGQ आवेदनों की जाँच के बाद सभी पात्र बोली दाताओं से ‘रिक्वेस्ट फॉर प्रोपोजल’ आमंत्रित किये जायेंगे। रेलवे ने बताया कि क्लस्टरों के आवंटन का काम फरवरी 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

वार्ता