पहले किया रेप का प्रयास, फिर किया जानलेवा हमला

by saurabh

कानपुर। काकादेव थाना क्षेत्र के डबल पुलिया के रहने वाली नाबालिग किशोरी पर आज कुछ दबंगों ने जान लेवा हमला कर दिया। हमले में लड़की बाल बाल बच गयी। दबंगों ने पहले भी किशोरी के साथ रेप का प्रयास किया था और उसे शराब से नहलाया लाया था, जिसकी शिकायत किशोरी के परिजनों ने पुलिस से की थी। इसमें क्राइम ब्रांच पीड़ित के आरोपों की जांच कर रही है। इसके बावजूद दबंगों के हौसले इतने बुलंद हैं कि पीड़ित को बार-बार मारने की कोशिश कर रहे हैं और पुलिस अपनी जांच में जुटी हुई है।

महिलाओं के प्रति हो रहे अत्याचार के खिलाफ सरकार बताने को तो गंभीर है लेकिन महिलाओं के प्रति अत्याचार कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसका एक कारण पुलिस भी है। अगर पुलिस अपना काम सही से करती तो दबंग आज फिर से घटना को अंजाम नहीं दे पाते। दबंग खुलेआम घूम कर घटना को अंजाम दे शासन को चुनौती दे रहे हैं।

थाना काकादेव क्षेत्र के डबल पुलिया अंबेडकर नगर की रहने वाली पीड़िता की नानी परचून की दुकान चलाती है। पीड़ित के नानी का आरोप है कि उनकी नातिन विजय नगर के राजकीय बालिका इंटर कालेज में कक्षा 8 की छात्रा थी जिसको मोहल्ले का रहने वाला दबंग सनी आए दिन सरेराह छेड़ता था। छेड़छाड़ से बचने के लिए नातिन की पढ़ाई बंद करवा दी तो सनी घर आकर परेशान करने लगा।

बीते कुछ महीने पहले सनी जबर्दस्ती घर में घुस कर मेरी नातिन के कपड़े फाड़ दिए, उसको शराब से नहलाया और बलात्कार करने का प्रयास किया। जिसकी शिकायत काकादेव थाने में की थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की और उल्टा पीडिता को ही अपशब्दों से नवाजा था। जिसके बाद एसएसपी के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ था।

आज पीड़िता नाबालिक किशोरी दुकान पर बैठी थी तभी सनी ने पुड़िया मांगी और नातिन पुड़िया देने लगी तो अचानक दबंग सनी ने लड़की की गर्दन पर चाक़ू से हमला कर दिया। लड़की ने बचाव में अपना हाथ आगे कर दिया तो उसके हाथ की नश कट गई है, जिससे लड़की लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ी। लड़की को गिरते देख सनी मौके से फरार हो गया। घटना की जानकारी होने पर पहुंची नानी ने लड़की को तुरंत काकादेव थाने लाई। लड़की की हालत देख नानी ने थाने में जल्दी कार्यवाही करने की बात कही तो महिला सिपाही ने लड़की को घसीट कर गेट से थाने ले गयी, जिसके बाद पीड़ित को हैलट के लिए रिफर कर दिया गया है।

पीड़िता ने बताया कि सनी ने कई बार जान से मारने की धमकी देते हुए कहा है कि तू मेरी नहीं होगी तो तुझे किसी का नहीं होने दूंगा। तुझे जान से मार दूंगा। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर लेकर छानबीन शुरू कर दी है। वहीं परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने पहले की गयी शिकायत पर कार्यवाही की होती तो शायद आज ये घटना न होती।

ऐसे में बड़ा सवाल है कि अगर समय रहते पुलिस ने कार्यवाही की होती तो शायद ये घटना नही होती।फिलहाल पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लग रहे हैं।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts