कौशांबी :- चरवा के एक गांव में सात साल पहले एक युवक और युवती के बीच बने अवैध संबंध से युवती गर्भवती हो गई। जिस पर युवक ने गर्भपात करा दिया। दोनों परिवार के लोगों ने शादी का प्रस्ताव रखा पहले तो दोनो के प्यार को शादी में परिवर्तित करने की बात बन गई लेकिन उसके बाद वर पक्ष की ओर से दहेज की डिमांड शुरू हो गई जिससे प्रेमी युगल की शादी में बाधा दिखाई पड़ने लगी इस पर दहेज का ग्रहण लग गया। युवती के पिता ने मामले की तहरीर पुलिस को देकर आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की है।

मामला चरवा के एक गांव का है जहाँ एक व्यक्ति मजदूरी कर जीविकोपार्जन करता है। उसकी बेटी गांव के ही एक युवक से प्रेम करती है। दोनों के बीच करीबी बढ़ी तो उनके बीच अनैतिक शारीरिक संबंध बन गए। आरोप है कि युवती गर्भवती हो गई। इसके बाद युवक ने उसका गर्भपात करा दिया। मामले की जानकारी युवती के परिवारीजनों को हुई तो विवाद हो गया।

इसके बाद दोनों पक्ष के बीच हुई पंचायत में शादी का फैसला हुआ। क्षेत्र के एक मौलवी ने दोनों के रिश्ते की मंजूरी देते हुए शादी की तिथि निर्धारित कर दी। चार अक्टूबर को शादी होना था, लेकिन युवक के परिजनों ने दहेज की मांग रख दी। आरोप है कि युवती के परिजन दहेज के खिलाफ है। ऐसे में उन्होंने मामले की तहरीर पुलिस को दी है। अब पूरे प्रकरण की पुलिस जांच कर रही है

रिपोर्ट श्रीकांत यादव