सिरोही-जिले में कोविड-19 के संक्रमण में हो रही वृद्धि के मध्यनजर एवं कोविड-19 वेक्सीनेशन के प्रचार-प्रसार एवं जानकारी साझा करने के क्रम में जिला कलक्टर भवगती प्रसाद की अध्यक्षता में जन प्रतिनिधियों, धर्मगुरूओं,एनजीओ, राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों विभिन्न समाजों के अध्यक्ष, प्रतिनिधिया की बैठक ( जिला एवं ब्लाॅक स्तर के ) एवं एसोसिएशनों के अध्यक्ष, प्रतिनिधि ( जिला एवं ब्लाॅक स्तर के ) की जिला परिषद ( ग्रामीण विकास प्रकोष्ठ) सभागार बैठक आयोजित की गई।
बैठक में जिला कलक्टर ने उपस्थित प्रतिनिधियो से कहा कि कोविड-19 से बचाव एवं नियत्रण के लिए आमजन में चेतना जागृत करना जरूरी है, इसके लिए राज्य सरकार द्धारा गाईड लाईन जारी की गई है। आमजन राज्य सरकार द्धारा जारी गाइड लाइ्रन का पालन करें ताकि बढते संक्रमण पर काबू पाया जा सके। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार वर्तमान में कोविड के मामले फिर से बढ रहें है, इसलिए लोगों का एंटी कोविड 19 गतिविधियों अर्थात कोविड उपर्युक्त व्यवहार जैसे कि मास्क पहनना, हाथ धोना, हैड सेनेटाईजर का उपयोग करना, सार्वजनिक रूप से नहीं थूंकना, इक्कठ्ा नहीं होना एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने आवश्यक है। उन्होंने कहा कि लोगों का इस सबंध में आत्म अनुशासन के लिए ओर पे्ररित किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अब एक वर्ष से अधिक का समय बीत चुका है और लोग कोविड के प्रति कुछ हद तक निश्चित हो गए है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन एव आप सभी के सामुहिक प्रयास से ही कोरोना पर काबू पाया जा सकता है पूर्व मे भी जिला प्रशासन एवं आमजन के सहयोग से ही इस पर काबू पाया जा सके और इस बार भी आप सभी के सामूहिक प्रयासो से ही हम कोविड से आमजन को बचा सकते है। उन्होंने इस अवसर बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियो से आव्हान किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र में जाकर समाज व सगठनो टीकाकरण के लिए अधिकाधित प्रेरित करे एवं उन्हें बताए कि टीकाकरण के किसी भी प्रकार का नुकसान नही है इससे हमारी रोग प्रतिरोग क्षमता ओर बढेगी।
उन्होंने इस अवसर पर कहा कि जिले के वे सभी लोग जो 45 वर्ष के हो चुके है वे भी अधिक से अधिक टीकाकरण करवाएं हमें चाहिए कि इस कार्य के लिए हम अधिक से अधिक जिम्मेदारी लेते हुए अन्य लोगों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करे ताकि कोरोना का संक्रमण होने पर भी शरीर पर इसके दुष्प्रभावों को कम किया जा सके। उन्होंने लोगों को घर से कम से कम बाहर निकलने तथा उन स्थानों की यात्रा करने से बचने का सुझाव दिया, जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या अधिक है। उन्होंने कहा कि सभी को यह बात समझनी चाहिए कि आंकड़ों की दृष्टि से दूसरी लहर के दौरान माहमारी की तस्वीर अधिक भयावह है। जिला कलक्टर ने उपस्थित धर्मगुरूओं , संस्थाओं के पदाधिकारियो से कहा कि संस्थाओं में कोविड-19 की गाईड लाईन के नियमों का पालन करें और पालन करवाए। उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की विस्तृत जानकारी दी।
जिला पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कोरोना पर काबू पाने के लिए समुदाय की जागरूकता और इसकी भागीदारी और जन आंदोलन जारी रखने की आवश्यकता हैं। राज्य सरकार ने प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण की गंभीर स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आगामी 15 दिन के लिए सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया है। इस विषय में विस्तृत गृह विभाग द्धारा जारी दिशा-निर्देशों की पालना सुनिश्चित करें।
आमजन के संक्रमण के प्रति लापरवाह हो जाने के कारण ही कोविड-19 की दूसरी लहर तेज गति के साथ आई है। यदि हम सब मास्क पहनने, उचित दूरी और बार-बार हाथ धोने के हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना अनिवार्य रूप से नहीं करेंगे, तो कोरोना वायरस का संक्रमण भयावह रूप ले लेगा। उन्होंने कहा कि होटल, रेस्टोरेन्ट तथा बाजारों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सख्ती की आवश्यकता भी जताई। उन्होंने कहा कि हर एक व्यक्ति का यह कर्तव्य है कि वह अपने आस-पड़ोस में हैल्थ गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करवाए।
कोरोना के खिलाफ जंग को प्रभावी तरीके से लड़ने के लिए सभी को सहयोग करना व टीकाकरण के लिए भी आगे आना चाहिए। बाजारों में मास्क तथा उचित दूरी के नियम की पालना नहीं होने पर संबंधित दुकान अथवा व्यावसायिक प्रतिष्ठान को सील भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संबंध में जारी गाइड लाईन के तहत की गई व्यवस्थओं की जानकारी दी।
बैठक मे अति0 जिला कलक्टर गितेश श्रीमालवीय ने कहा कि कुछ लोग कोरोना सक्रमण की गंभीरता को समझ नही पा रहें है और खुद के साथ ही आमजन के जीवन को खतरे में डाल रहें है। ऐसे लोगों के खिलाफ जिला प्रशासन ने सख्ती बरतने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए सरकार द्धारा जारी गाईड लाईन के अनुसार जुर्माना के प्रावधान को लागू किया गया है। उन्होंने इस अवसर पर विवाह समारोह, रैलियो व अन्य समारोह के बारे में बताते हुए कहा कि सरकार की गाइड लाईन का पालन नहीं करने पर नियमानुसार जुर्माना व कानूनी कार्यवाही अमल में लाने की बात कही।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल राजस्थान ब्यूरो चीफ