गोरखपुर : नवागत एसएसपी ने पदभार किया ग्रहण

by News Desk
37 views

गोरखपुर। प्रदेश सरकार नेअभी तक आगरा में एसपी रेलवे का कार्य दायित्व संभाल रहे 2007 बैच के आईपीएस जोगेंद्र कुमार को गोरखपुर का एसएसपी की नई जिम्मेदारी सौंपी  है। श्री कुमार बातचीत के दौरान  प्राथमिकताओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जन सामान्य की उम्मीदों पर उतरना ही हमारी सबसे बड़े प्राथमिकता होगी।

शासन के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। अपराधियों के साथ सख्ती से पेश आकर अपराध पर नियंत्रण करने की रणनीति पर पुलिस काम करेगी। मूल रूप से बाड़मेर, राजस्थान के रहने वाले जोगेंद्र कुमार  राजनीति विज्ञान में मास्टर डिग्री कि शिक्षा प्राप्त करते हुए आईपीएस बनने से पहले 2006 तक शिक्षक रहे। 2007 में वह भारतीय पुलिस सेवा में चयनित हुए थे। विभिन्न पदों पर रहते हुए  आगरा में एसपी रेलवे के पद पर कार्यरत थे   इनके कार्यों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने गोरखपुर का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया है।  श्री कुमार ने आगे कहा कि कानून-व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखकर लोगों को सुरक्षा का अहसास कराना तथा पीडि़त की समस्याओं का समाधान करना पुलिस का सबसे अहम और मूलभूत काम है। इस काम को पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ किया जाएगा। कानून का राज कायम रखने के लिए सक्रिय चल रहे अपराधियों के विरुद्ध अभियान चलाकर गिरफ्तारी की जाएगी और जेल भेजा जाएगा।

भूमि संबंधी विवादों के अक्सर गंभीर रूप अख्तियार कर लेने की बात कहने पर उन्होंने कहा कि ऐसे विवादों के निस्तारण में राजस्व विभाग की भूमिका काफी अहम होती है। राजस्व विभाग से तालमेल स्थापित कर इस तरह के विवादों को हल कराने की कोशिश की जाएगी। जिले की टॉप टेन सूची में शामिल बदमाशों और उनके गिरोह के सदस्यों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। थाने के टॉप टेन बदमाशों के विरुद्ध भी अभियान चलाया जाएगा। मऊ जनपद में एसपी रहते हुए इनानिया अपराधी द्वारा अगवा किए  लोगों की जान बचाते हुये  अपराधी को मार गिराया था।

  जिसके लिए राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया था श्री कुमार ने आगे बताया कि सभी क्षेत्राधिकारी व थाना प्रभारी की जिम्मेदारियां सुनिश्चित की जाएगी जिस थाने के ज्यादा फरियादी हमारे कार्यालय में अपनी समस्याओं का समाधान हेतु आएंगे तो वैसे थानेदारों को थानेदारी पद से मुक्त किया जायेगा  थानों पर आए हुए फरियादियों की समस्याओं को आगंतुक रजिस्टर में दर्ज किया जायेगा कि आए हुए फरियादी की क्या समस्याएं हैं।

  • रिपोर्ट शशांक सक्सेना

Related Posts