आजमगढ़ :: उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ जिले के जियनपुर इलाके में मंगलवार को एंटी करप्शन की टीम ने एक ग्राम पंचायत अधिकारी को पूर्व प्रधानपति से दस हजार रुपये की घूस लेते समय रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। एंटी करप्शन टीम के प्रभारी रामधारी मिश्रा ने बताया कि आजमगढ़ जिले में विकास कार्यो के शेष बचे रूपये के लिए पूर्व प्रधानपति से रिश्वत मांग रहे अजमतगढ़ ब्लाक के ग्राम पंचायत अधिकारी श्रीराम को गोरखपुर एंटी करेप्सन टीम ने दस हजार रुपये रिश्वत लेते समय रंगे हाथ जीयनपुर के रजादेपुर चौक से गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि सगड़ी तहसील के अजमतगढ़ ब्लाक के पुरूषोत्तमपुर कैथौली गांव के पूर्व प्रधानपति अवधेश गौतम ने शौचालय ,विद्यालय के कायाकल्प के तहत पूर्व में कार्य कराया था। जिसका कुछ फंड उनको मिल गया था, लेकिन शेष पैसा बाकी था। जिसके लिए वे ग्राम पंचायत अधिकारी श्रीराम से लगातार फंड जारी करने की गुहार लगा रहे थे। फंड जारी करने की एवज में दस हजार रूपये की मांग की। मांग पूरी नहीं होने पर वह प्रधानपति को फंड जारी नहीं कर रहा था।

मिश्रा ने बताया कि पूर्व प्रधानपति ने एक शिकायती पत्र एंटी करेप्सन टीम गोरखापुर को भेज दिया। इसी क्रम में मंगलवार को उनके नेतृत्व में एक टीम जिला मुख्यालय पहुंची और गवाहों को लेकर अजमतगढ़ ब्लाक पर पहुंची। जहां ग्राम पंचायत अधिकारी ने पूर्व प्रधानपति से रूपया लेने के लिए जीयनपुर इलाके के रजादेपुर चौराहे पर बुलाया था। पूर्व योजना के तहत टीम के सदस्य मौके पर पहुंचे और दस हजार रूपये रिश्वत लेते हुए ग्राम पंचायत अधिकारी श्रीराम को धार दबोचा। उसके बाद आरोपी को लेकर जीयनपुर थाने ले जाकर उसके खिलाफ विधिक कार्रवाई की गयी ।

वार्ता