बलरामपुर :- प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने की लाख कोशिश करे लेकिन प्रदेश की कानून व्यवस्था का हाल इतना बख्तर हो गया है। कि शायद ही किसी को कानून का डर हो। अभी कुछ दिनों पहले ही उत्तर प्रदेश के हाथरस में दरिंदगी की घटना सामने आई थी। इसके बाद प्रयागराज से भी दरिंदगी की घटना सामने आई। और उत्तर प्रदेश के बलरामपुर से दरिंदगी की ऐसी घटना सामने आई है जिसे सुनकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी।

बलरामपुर में एक 22 वर्षीय दलित छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आपको बता दें कि दरिंदों ने दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी। पहले पीड़िता के हाथ पैर भी टूटने की खबर आ रही थी लेकिन बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि नहीं हुई है।

छात्रा कॉलेज से एडमिशन करा कर वापस अपने घर लौट रही थी। तभी दरिंदे युवकों ने छात्रा को अगवा कर रूम पर ले गए, उसके बाद दरिंदों ने युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। युवकों ने युवती के साथ दरिंदगी की हदें पार कर दी कि युवती ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया।

घटना बलरामपुर के थाना कोतवाली गैसड़ी ग्राम मझौली की है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और तीन युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

रिपोर्ट :- अनिल कुमार गुप्ता