HATHRAS कांड: बड़ा खुलासा, घरवालों ने नहीं दर्ज कराई थी रेप की शिकायत

by saurabh

चन्दपा। हाथरस के चन्दपा थानाक्षेत्र में घटी कथित बलात्कार की घटना के बाद एक ओर जहाँ पूरे देश की मीडिया का जमावड़ा गांव में लग गया है वहीं दूसरी ओर मामले में कुछ चैकाने वाले तथ्य भी सामने आये है, जिनमें पीडित परिवार पर ही सवालिया निशान लग रहे है। सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के मुताबिक घटना के दिन 14 सितम्बर को मृतका के परिवार वालों ने थाने में हत्या का प्रयास का मामला दर्ज कराया था, जिसमें दुष्कर्म जैसी कोई बात नहीं कही गयी थी। वहीं पीडिता के अस्पताल में भर्ती होने के करीब 8 दिन परिवार वालों ने अपनी शिकायत में हत्या के प्रयास के साथ दुष्कर्म जैसे अपराध को भी जोड़ दिया।

ऐसे में सवाल उठता है कि ऐसे कैसे संभव हो सकता है कि किसी लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ हो और घर वालों को पता न चला हो, वहीं फारेंसिक रिपोर्ट में भी दुष्कर्म न होने की बात सामने आयी है। जिससे परिवार वालों पर शक की सुई और गहरा गई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक घटनाक्रम वाले दिन पीड़िती की माँ ने मामले को आपसी झगड़े में बेटी के गला दबा कर हत्या की कोशिश करने की बात कही थी। वहीं पीड़िता के भाई द्वारा दिये शिकायत पत्र में भी जान लेने की कोशिश और एससी एसटी एक्ट में शिकायत की गई थी।

कांग्रेस नेता के दखल देने के बाद आया नाटकीय मोड़
पूरे मामले में नाटकीय मोड़ उस वक्त आया जब 19 सितम्बर को एक कांग्रेस नेता पीड़िता से मिलने पहुॅचे। इस मीटिंग के बाद से पीडित पक्ष की ओर से बयान बदलने लगे। साथ ही मीडिया में वायरल हुए फोन काॅल रिकाॅर्डिंग में भी पुरे मामले में कांग्रेस की हस्ताक्षेप साफ समझ आ रहा है।
वही सूत्रों द्वारा ज्ञात हुआ है किं जब जाॅच एजेंसिंयों द्वारा मामले में शामिल सभी लोगों का नार्को टेस्ट कराने की बात सामने आयी तो उसमें भी पीड़ित परिवार ने अपनी सहमति दर्ज नहीं करायी है। ऐसे मे पीड़ित परिवार पर गंभीर रूप से सवालिया निशान लग रहे है।

Related Posts