नयी दिल्ली। निजी क्षेत्र के HDFC Bank ने अगले दो साल में दो लाख गांव तक अपनी पहुंच बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। HDFC Bank में व्यवसायिक और ग्रामीण बैंकिंग के समूह प्रमुख राहुल शुक्ला ने रविवार को कहा, “देश के ग्रामीण क्षेत्रों और उप-नगरीय बाजारों को ॠण विस्‍तार में काफी कम सुविधाएं प्राप्‍त हैं। ये क्षेत्र देश की बैंकिंग प्रणाली में स्थायी और दीर्घकालीन विकास के अवसर प्रदान करते हैं।
HDFC Bank देश की सेवा में जिम्‍मेदारी के साथ ॠण का विस्‍तार करने के लिए प्रतिबद्ध है। लगातार आगे बढ़ते हुए हमारा सपना हर जगह और क्षेत्र में अपनी बैंकिंग सुविधाओं को सुलभ बनाना है।”

उन्होंने कहा कि बैंक ने अपने विस्तार की योजना ब्रांच नेटवर्क, बिजनेस संवाददाता, बिजनेस फैसिलिटेटर्स, सीएसी पार्टनर्स, वर्चुअल लीडरशिप मैनेजमेंट और डिजिटल आउटरीच प्लेटफॉर्मों के संयोजन से बनाई है। इससे बैंक की देश के एक तिहाई गांवों तक पहुंच बढ़ेगी। बैंक की ग्रामीण बैंकिंग सुविधाओं का विस्तार एक लाख से अधिक गांवों तक हो गया है। बैंक का उद्देश्य इसे दोगुना करते हुए दो लाख गांवों तक अपनी पहुंच बनाना है। अपनी योजना के तहत बैंक अगले छह महीनों में 2500 से ज्यादा लोगों को रोजगार प्रदान करने की तैयारी कर रहा है।

श्री शुक्ला ने कहा, “केंद्र सरकार कई योजनाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बदल रही है। हम बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में एक जिम्मेदार लीडर के रूप में इसी दिशा का अनुसरण करने में विश्वास रखते हैं। हम अपने बेहतरीन बैंकिंग उत्पाद और सेवाएं समाज के हर वर्ग को मुहैया कराना चाहते हैं। हमारी डिजिटल पहल दूरदराज के क्षेत्रों और गांवों में हमारी पहुंच बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाएगी। हम उन सभी लोगों को ऋण प्रदान करेंगे, जो देश की प्रगति के बावजूद आर्थिक रूप से पीछे छूट गए हैं।”

वार्ता