जालौन- एक सिपाही जिंदगी भर अपने ड्यूटी करता है और जब वह ड्यूटी के बाद रिटायर होकर अपने घर में रहता है तब भी दबंग उसका पीछा नहीं छोड़ते। सिपाही ड्यूटी पर तो सभी कठिनाइयों का सामना करता ही है लेकिन बेखौफ दबंगई उसको रिटायरमेंट के बाद भी नहीं चैन से रहने देती है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जालौन जनपद का है जहां पर सदर कोतवाली क्षेत्र में एक रिटायर्ड हेड कॉन्स्टेबल ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मार ली। जिससे उसकी मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि उरई के सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला पटेल नगर में रिटायर्ड हेड कांस्टेबल श्याम चरण द्विवेदी ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जिसकी सूचना पुलिस को दी गयी तभी घटना स्थल पर स्थानीय पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मृतक के परिजनों ने तहरीर में बताया कि दबंगो द्वारा परेशान किया जा रहा था। जिसकी तहरीर पुलिस को दे दी गयी है। पुलिस तहरीर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

रिपोर्ट : नवीन कुशवाहा