सुप्रीम कोर्ट ने लवलीन घोटाला मामले की टाली सुनवाई, CBI ने दी थी चुनौती

नई दिल्ली– उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को करोड़ों रुपये के लवलीन घोटाला मामले की सुनवाई छह अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी।

न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने घोटाले की जांच कर रही प्रमुख एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अनुरोध पर सुनवाई छह अप्रैल तक के लिए टाल दी।

सीबीआई की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एस. वी. राजू ने खंडपीठ से कहा, “मुझे एक दूसरे मामले की सुनवाई में शामिल होना है, इसलिए इसकी सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए टाल दी जाये।” इसके बाद न्यायालय ने मामले की सुनवाई छह अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी।

ये भी पढ़ें- टीआरपी घोटाला: पार्थो दासगुप्ता की जमानत याचिका पर सुनवाई टली

इस मामले में केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन और दो अन्य आरोपियों को बरी करने के उच्च न्यायालय के फैसले को सीबीआई ने चुनौती दी है। केरल उच्च न्यायालय ने सबूतों के अभाव में साल 2017 में मुख्यमंत्री को क्लीनचिट दे दी थी। मामला जलविद्युत परियोजनाओं के आधुनिकीकरण के लिए कनाडा की कंपनी एसएनसी लवलीन के साथ हुए करार से जुड़ा है।

इन्पुट – यूनीवार्ता