महराजगंज /रायबरेली:क्षेत्र के मऊ नहर पुल पर चेकिंग कर रही कोतवाली पुलिस को मुखबिर ने जिया पुर मोड़ पर संदिग्ध वाहन खड़ा होने की सूचना दी। मुखबिर की सूचना पर मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस को मांस से लदी पिकप खड़ी मिली। वहीं पुलिस के आने से पूर्व ही चालक व घटना में संलिप्त मौके से फरार हो गए। कोतवाली पुलिस ने मिले मांस की सैंपलिंग करा शेष मांस को जेसीबी से जमीन में दफन करा दिया। घटना में प्रयुक्त पिकप को पुलिस, कोतवाली ले आई व अज्ञात लोगों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर घटना की पड़ताल कर रही है।

बताते चलें कि रविवार की सुबह लगभग पांच बजे मऊ नहर पुल पर चेकिंग कर रहे एसएसआई संतोष कुमार यादव को मुखबिर ने महराजगंज-इन्हौंना मार्ग के जियापुर मार्ग पर कुछ लोगों के संदिग्ध वाहन के साथ खड़ा होने की सूचना दी। सूचना मिलते ही मय फोर्स मौके पर पहुंचे एस एस आई को एक बिना नंबर अशोक लीलैंड की पिकप खड़ी मिली। पिकप की तलाशी लेने पर डाला में काफी मात्रा में कटा मांस लदा मिला। आस-पास खोजबीन करने पर कोई नहीं मिला, पुलिस की भनक लगते ही घटना में संलिप्त लोग चालक सहित पुलिस के आने से पूर्व फरार हो गए।

पुलिस ने पशु-चिकित्सक अजय,, कनौजिया को बुला सैंपलिंग कराई व शेष बचे मांस को जेसीबी से जमीन में दबवा दिया। कोतवाली पुलिस द्वारा घटना में प्रयुक्त पिकअप को कोतवाली पहुंचाने के साथ ही अज्ञात के विरुद्ध संबंधित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर घटना की पड़ताल कर रही है। वहीं पशु-चिकित्सक अजय कनौजिया ने बताया कि लगभग पांच कुंतल मांस था। जिसका सैंपल प्रयोगशाला भिजवाया गया है।परीक्षण के बाद ही कंफर्म हो पायेगा कि मांस किसका है।

वहीं कोतवाल एन के कुशवाहा ने बताया कि मांस लदी बिना नंबर पिकप पकड़ी गई है। मांस को जेसीबी बुलवा डिस्पोज कराया गया है। अज्ञात के विरुद्ध संबंधित धाराओं में अभियोग पंजीकृत करने के साथ ही घटना में संलिप्तों को तलाश कर जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा।