लखीमपुर-खीरी। सम्पूर्णानगर मुखबिर की सूचना पर कार्यवाही करते हुए एस एस बी बसही कंपनी तथा पुलिस की संयुक्त टीम ने दो तस्करों को ब्राउन शुगर के साथ पकड़ने में कामयाबी हासिल की बताते चलें कि 49 वीं बटालियन पीलीभीत की बसई कंपनी इंचार्ज भेर जी सोडा को बृहस्पतिवार की शाम मुखबिर ने फोन पर जानकारी देते हुए बताया दो तस्कर ब्राउन सुगर नेपाल पहुंचाने की फिराक में हैं सूचना मिलते ही भेर जी ने पुलिस को भी सूचना देकर आने को कहा।

इधर भेर जी अपने कुछ जवानों को लेकर तस्करों की तलाश में निकल पड़े जहां उनके जवानों ने नेपाल पहुंचने के संभावित जंगली रास्तों पर नजर गड़ा ली,इधर अभीतक पुलिस नहीं पहुँच पाई थी । समय लगभग 5 :30 बजे भारत नेपाल सीमा संख्या 770 नया 200 के सामने से जंगल के रास्ते दो मोटरसाइकिलें सीमा की तरफ आते दिखीं तो भेरजी ने अपने जवानों को सतर्क कर दिया। जैसे ही दोनों मोटरसाइकिलें पास पहुँची तो एस एस बी जवानों ने उन्हें चारों तरफ से घेर लिया जवानों को देख दोनों ने भागने का असफल प्रयास किया और पकड़े गए ।एसएसबी जवानों ने उनकी तलाशी ली तो दोनों के पास से सफेद पाउडर जैसे कुछ पदार्थ मिला ।जब जवानों ने उसके बारे में पूछा तो पकड़े गए तस्करों ने ब्राउन शुगर नामक मादक पदार्थ का होना बताया उधर सम्पूर्णानगर कोतवाल सुनील सिंह भी अपने दल के साथ मौके पर पहुंच गए जहां से पुलिस व एसएसबी की टीम दोनों तस्करों को मादक पदार्थ तथा मोटरसाइकिल सहित थाने ले आई जहां उनसे विधिवत पूछताछ की तो एक युवक ने अपना नाम बग्गा सिंह पुत्र उपदेश सिंह तथा दूसरे ने कुलविंदर सिंह पुत्र कश्मीर सिंह दोनों ने अपना पता कंबोज नगर थाना हजारा जिला पीलीभीत बताया। दोनों तस्करों के पास से 41.160 ग्राम ब्राउन शुगर ,दो मोटरसाइकिल तथा दो फोन बरामद हुआ है ।

जिनकी कीमत लगभग 2206500 रुपये आँकी गई है। बग्गा सिंह जोकि यूके 06 जे 6169 नंबर की मोटरसाइकिल चला रहा था। वहीं गुरविंदर सिंह यूपी 26 ए सी 8570 हौंडा मोटरसाइकिल चला रहा था दोनों मादक पदार्थ नेपाल ले जाने की फिराक में थे। जिन्हें पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के संबंधित धाराओं 249 /2020, 8 / 21 के तहत दोनों आरोपी तस्करों को जेल भेजने की कार्यवाही की इस कार्यवाही टीम में बसही कंपनी इंचार्ज भेर जी सोडा, आरक्षी गौरव मद्धेशिया, आरक्षी अमर भारती, आरक्षी महिंद्र नंदलाल तथा चालक प्रभु पुलिस टीम की तरफ से कोतवाल सुनील सिंह, खजुरिया चौकी इंचार्ज जीवन, सिंह राम शब्द मौजूद रहे ।

रिपोर्ट-गोविन्द कुमार