प्रत्याशी हेमंत धनगर का फर्जी पाया गया जाति प्रमाणपत्र

उरई (जालौन)। त्रिस्तरीय जिला पंचायत चुनाव के नामांकन बाद आज शुक्रवार को पहले नामांकन पत्रों की जांच के लिए कलेक्ट्रेट स्थित नामांकन कक्ष में प्रत्याशियों को बुलाया गया था। जबकि कुछ प्रत्याशियों को नामांकन पत्रों की जांच के लिए 17 अप्रैल दिन शनिवार को भी बुलाया गया है। आज नामांकन पत्रों की जांच के दौरान कैलिया जिला पंचायत सीट से चुनाव लड़ रहे समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी हेमंत धनगर पुत्र राजाराम धनगर निवासी ग्राम कैथ थाना जालौन नामांकन पत्र जांच के दौरान इस लिए निरस्त कर दिया गया जिसमें अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र लगा था जबकि सपा प्रत्याशी हेमंत धनगर जो पाल समाज से आते है तथा पाल समाज पिछड़ी जाति की श्रेणी में आते है जबकि कैलिया जिला पंचायत सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। धनगर समाज सपा प्रत्याशी हेमंत धनगर का नामांकन पत्र निरस्त होने की खबर लगते ही उनके समर्थन धनगर समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. धनगर निवासी आगरा अपने दर्जनों साथियों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंच गये और पर्चा निरस्तीकरण को लेकर अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की यहां तक कि जिलाधिकारी कक्ष के बाहर हंगामा काटने लगे यह देख अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह मौके पर पहुंच और धनगर समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. धनगर को काफी समझाने का प्रयास किया जब भी नहीं माने तो मामले की सूचना कोतवाली पुलिस को दी गयी। सूचना मिलते कोतवाली प्रभारी निरीक्षक पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और धनगर समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. धनगर एवं सपा प्रत्याशी हेमंत धनगर को हिरासत में ले लिया बाद में जिलाधिकारी के निर्देश दोनों को वहीं से मुक्त कर दिया।

रिपोर्ट- नवीन कुशवाहा