कानपुर। होटल में बर्थडे पार्टी करने के नाम पर युवती से लड़को ने किया गैंग रेप,शिकायत के 11 घटे बाद लिखी गई एफआईआर। सुबह से थाने में बैठी रही पीड़ित।पीड़िता की सहेली ले गई थीं बहाने से होटल।

हाथरस में गैंगरेप और पीड़िता की हत्या के मामले ने पूरे सूबे की सियासत को हिला कर रख दिया है। वहीं कानपुर में पुलिस है कि इस मामले से कोई सबक सीखने को तैयार ही नहीं है। यहां एक गैंगरेप पीड़िता को पुलिस ने सुबह से शाम तक थाने में बैठाए रखा और उसकी एफआईआर तक नहीं दर्ज की।

आरोप है कि पुलिसकर्मी कार्रवाई करने के बजाए पीड़िता को ही दोषी ठहराते रहे। आपको बता दें कि बर्रा थाना क्षेत्र के सोना मेनशन होटल में युवती को नशीला पदार्थ खिलाकर दो युवकों ने उसके साथ गैंगरेप किया। युवती की सहेली उसे पार्टी का बहाना कर उसे वहां ले गई थी।

कल्याणपुर की रहने वाली युवती ने आरोप लगाते हुए बताया कि उसकी सहेली उसको पार्टी की बात कहकर गोविन्दनगर लाई थी। जब गोविन्द नगर की जगह सहेली बर्रा के होटल सोना मैन्सन में ले आई। जिसके बाद पार्टी की बात कहकर नशीला पदार्थ पिला दिया। जिसके बाद युवती को होश नही रहा। वहीं युवती के साथ दो युवक अभिषेक,आशीष ने दुष्कर्म कर दिया। जिसके बाद युवती को अपने साथ हुई घटना का पता चला तो वह थाने पहुंच गई। मगर दिनभर वह पुलिस से आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखने की गुहार लगाती रही,लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बजाय उसके ही चरित्र पर सवाल उठाने शुरू कर दिए।

वही जब मामला मीडिया के सामने आया तो पुलिस हरकत में आई और कार्यवाही की बात करती नजर आई।मगर सबसे बड़ी बात ये है कि पुलिस ने 11 घंटे बीत जाने के बाद एफआईआर दर्ज की लेकिन अभी तक रेप करने वाले दोनो आरोपियों को गिरफ्तार नही कर सकी है। साथ ही न ही पुलिस ने उस होटल पर कोई कार्यवाही की है जिसने बिना आईडी के ही कमरा मुहैया कराया था।

वैसे ये होटल एक बीजेपी नेता का है। ऐसे में पुलिस मामले पर कितनी सजग है ये अंदाज साफ तौर पर लगाया जा सकता है।वही पुलिस का कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहा है। इस मामले में एसपी दीपक भूकर का कहना है कि एफआईआर दर्ज हो गई है आरोपियों की तलाश की जा रही है लेकिन उन्होंने अभी कोई बयान नही दिया है।

  • सलमान हैदर