नयी दिल्ली। देश में अब तक बिटक्वाइन जैसी आभासी मुद्राओं को वैधानिक मान्यता नहीं दिये जाने के बीच अब सरकार इन मुद्राओं को विनियमित करने की तैयारी कर रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि इस तरह की मुद्राओं को विनियमित करने के उद्देश्य से कानून बनेगा।

उल्लेखनीय है कि सरकार के साथ ही रिजर्व बैंक ने भी इस तरह की मुद्राओं को देश में वैधानिक मान्यता नहीं दी है लेकिन ऑनलाइन इसकी खरीद फरोख्त हो रही है। कई ऐसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म हैं जो लाेगोें को इनमें निवेश करने की सुविधा प्रदान कर रहे हैं। आभासी मुद्राओं की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुये ही रिजर्व बैंक ने वर्चुअल मुद्रा जारी करने की भी बात कही थी लेकिन अब तक यह जारी नहीं हो सकी है।

खाद्य तेलों की बढ़ती कीमतों के बारे में पूछे जाने पर वित्त मंत्री ने कहा कि इसको लेकर मंत्रियों का एक समूह है जो निगरानी कर रहा है। आवश्यकता होने पर खाद्य तेलों पर सीमा शुल्क आदि के बारे में समूह की सलाह पर ही निर्णय लिया जाता है।