फर्रुखाबाद:  रवीना हत्याकांड का खुलासा कर उसके प्रेमी कल्याण को हत्या में प्रयोग किए गए तमंचे सहित गिरफ्तार कर लिया है। जहानगंज पुलिस ने ग्राम तकिया रूनी निवासी अवनेश प्रताप सिंह उर्फ कल्याण पुत्र रामसेवक कठेरिया को 315 बोर तमंचा व खोखा सहित गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने कल्याण को पुलिस लाइन में मीडिया के सामने पेश किया पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा ने बताया कि 14 नवंबर की रात में गांव के मकबूल हसन की पुत्री रवीना की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। रवीना के भाई असलम ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

एसपी ने बताया की हत्याकांड का खुलासा करने के लिए थाने की टीम एसओजी की टीम एवं सर्विलांस की टीम को लगाया गया था। पुलिस ने हत्यारे अवनेश प्रताप सिंह को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर हत्या कांड में प्रयोग किए गए 315 बोर तमंचा व खोखा बरामद कर लिया। अवनेश ने पुलिस को बताया की कि मेरा रवीना से बीते 5 वर्षों से प्रेम संबंध चल रहा था हम लोग रात में अक्सर गांव के हरिशचंद के घेर में आम के पेड़ के नीचे मिलते थे।  मैं रवीना की शौक में रुपए खर्च करता था मैं जब भी रवीना से मिलने जाता था तो तमंचा साथ ले जाता था। जाने से पहले फोन पर रवीना को आने की जानकारी दे देता था वर्ष 2018 में रवीना की शादी होने के कारण उससे न मिल पाने के कारण परेशान रहता था। एक माह से रवीना अपने पति के साथ भाई के घर रहने लगी थी 14 नवंबर की रात 11 बजे मुलाकात के दौरान रवीना ने कहा कि अब मैं मिलने नहीं आ पाऊंगी। यदि मेरी पति को जानकारी हो गई तो वह मुझे छोड़ देगा इसी बात को लेकर विवाद हुआ।रवीना मुझे गंदी गालियां देने लगी तभी गुस्से में मैंने तमंचे से रवीना के सिर में गोली मार दी डीजे बजने के कारण किसी ने गोली की आवाज नहीं सुनी।

जब मैं हाथ में तमंचा पकड़ कर घर जा रहा था तो गांव के अशफाक ने मुझे देख लिया भय के कारण मैंने तमंचा पुलिया की ईटों में छुपा दिया। मै रात में ही फर्रुखाबाद गया और वहां से शाहजहांपुर चला गया था मेरा मोबाइल फोन कहीं गिर गया जो मुझे नहीं मिला है। रुवीना का जनपद एटा थाना नयागांव के ग्राम सराय अगहत निवासी नफीस से निकाह हुआ था।रुवीना अपने पति के साथ बीते एक माह से मेरे छोटे भाई नन्हे के घर पर रहती थी।रवीना घटना वाली रात गांव के इसरार की लड़की की शादी में भात पहनाने गई थी। वह रात 11 बजे भाई नन्हें की पत्नी मरजीना के साथ घर लौट आयी थी। लेकिन रुवीना भाई नन्हे के घर नहीं गई थी दूसरे दिन सुबह 6 बजे रुवीना का गोली लगा शव गांव के हरिशचंद के घेर में पड़ा पड़ा देखा गया। रवीना का पति नफीस मेरे साथ ग्राम बिरिया नगला कोल्ड स्टोरेज में पल्लेदारी करता है।

रिपोर्ट :जयपाल सिंह यादव दानिश खान