मकर राशि मे नवम्बर माह में शनि के आते ही कोरोना वायरस का फैलाव दिसम्बर से हुआ। मकर राशि शनि के स्वयं घर है। शनि वायुतत्व है और उनकी दृष्टि कर्क राशि पर पड़ रही है जो जल के साथ फेफड़े का हिस्सा है। कर्क राशि से ,गुरु षष्टक योग में है जो रोग को दर्शाता है।।कर्क राशि जो जनता की राशि है ,के द्वादश राशि मिथुन में राहु है। राहु ,विदेश और धूर्त का परिचायक है और गुरु से दृष्ट है जिससे विदेश से धूर्तों के कारण यह बीमारी विश्व मे महामारी बनी।

लेकिन 22 मार्च 2020 से समय बदल रहा है।। मकर राशि मे मंगल, उच्च होकर पहुंच रहा है जो अग्नि तत्व का है । शनि को उसके घर में लगाम लगाने के लिए तत्पर होगा।। 29 मार्च 2020 को मकर राशि मे गुरु के प्रवेश करते ,स्थिति सामान्य होना चालू हो जायेगा।। क्योंकि कर्क राशि गुरु की उच्च राशि है और सप्तम स्थान आकर कर्क राशि को देखेगा। कर्क राशि, फेफड़े के अलावा जनता की राशि है जहां मंगल के साथ सुंदर नीच भंग राजयोग देगा।।

अतः सावधानी बरतें।। हवा के सम्पर्क से बचें।। कपूर को जलाये।।

  • astro अनु दी