कर्मचारी भविष्य निधि से जुड़े 13 लाख से ज्यादा अंशधारक

नई दिल्ली- कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने जनवरी 2021 में कर्मचारी भविष्य निधि में 13 लाख 36 हजार अंशधारकों को शामिल किया है।

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने शनिवार को यहां बताया कि चालू वित्त वर्ष में ईपीएफओ ने जनवरी, 2021 के दौरान 13.36 लाख अंशधारकों को जोड़ने के साथ कोविड -19 महामारी के बावजूद वर्तमान वित्तीय वर्ष के दौरान लगभग 62.49 लाख अंशधारक शामिल किये हैं। यह आंकड़ा दिसंबर, 2020 की तुलना में जनवरी, 2021 के महीने में 24 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।

आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2021 के महीने के दौरान जोड़े गए 13.36 लाख अंशधारकों में से लगभग 8.20 लाख नए सदस्यों को पहली बार ईपीएफओ की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ मिलेगा। करीब 5.16 लाख अंशधारक ईपीएफओ से बाहर निकल गए और फिर दोबारा इससे जुड़े।

ये भी पढ़ें- ईपीएफ की न्यूनतम पेंशन बढ़ाने का कोई प्रस्ताव नहीं

अखिल भारतीय स्तर पर तुलनात्मक अध्ययन से पता चलता है कि महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, तमिलनाडु और कर्नाटक में सर्वाधिक अंश धारक जोड़े गये। नए अंशधारकों में से 2.61 लाख महिला हैं, जो कि दिसंबर, 2020 के पिछले महीने की तुलना में लगभग 30 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

इन्पुट- यूनीवार्ता