logo
कानपुर : प्रधानमंत्री मोदी की रैली के दौरान तोड़फोड़ करने वालों पर होगी कार्यवाही, गैंगस्टरों लग सकती है रासुका
 

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली के दौरान साजिश रच कर कार में तोड़फोड़ करने वाले पूर्व सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस का शिकंजा और कस गया है। मामले के आठवें आरोपी की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने सभी अराजकता फैलाने वालों को सीधे सबक दिया कि किसी को भी कानून व्यवस्था से नहीं खेलने दिया जायेगा। 

बता दे कि बीते मंगलवार को हुई रैली में बवाल भड़काने की साजिश रचकर भाजपा के पोस्टर, बैनर और झंडा लगाकर अपनी ही गाड़ी में तोडफोड़ और प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का पुतला फूंकने के मामले में पुलिस ने आठवें आरोपित को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस मंगलवार तक मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी थी।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान नौबस्ता थाना क्षेत्र के बंबा चौराहे के पास सपा छात्र सभा के राष्ट्रीय सचिव सचिन केसरवानी की अगुवाई में सपाइयों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंकने के साथ भाजपा का झंडा, बैनर और पोस्टर लगी कार में पथराव और तोड़फोड़ करते हुए नारेबाजी की थी। इसका इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था। पुलिस आयुक्त के आदेश पर छानबीन शुरू हुई तो सामने आया कि शातिरों ने अपनी गाड़ी में झंडा, बैनर आदि लगाकर उसमें तोड़फोड़ करके बवाल भड़काने की साजिश की थी। मंगलवार देर रात ही पुलिस ने सचिन को गिरफ्तार किया था। 

इसके बाद पुलिस ने लोकनायक कालोनी निवासी सुकांत शर्मा,दादानगर निवासी अभिषेक रावत, आवास विकास नौबस्ता के निकेश कुमार और अंकुर पटेल को गिरफ्तार कर जेल भेजा। इसके बाद पुलिस ने जितेंद्र और अंश उर्फ शिब्बू को तीन दिन पहले गिरफ्तार करके जेल भेजा था। सोमवार को पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आठवें आरोपित जितेंद्र के भाई अरुण नौबस्ता रेसकोर्स मैदान के पास से गिरफ्तार किया है।पुलिस आयुक्त असीम अरूण ने बताया कि सभी आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इन सभी पर अराजकता फैलाने के तहत कार्यवाही की जा रही है,जरूरी हुआ तो रासुका भी लगायी जायेगी।


रिपोर्ट : शाहिद पठान

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।