logo
इलाहाबाद हाईकोर्ट के तीन न्यायाधीश हुए कोरोना से संक्रमित
 

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट भी कोरोना से बच नहीं पाया जहां तीन जजों को कोविड पॉजिटिव पाया गया है।जिससे हड़कंप मच गया है। तीनों जजों के रहने वाले इलाकों को हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है। अब संक्रमित जजों के संपर्क में आए जजों समेत स्टाफ और लोगों की जांच की जा रही है।

इससे पहले रविवार को प्रधान न्यायाधीश राजेश बिंदल की अध्यक्षता में हुई प्रशासनिक समिति की बैठक के दौरान 3 जनवरी से मामलों की वर्चुअल सुनवाई करने का निर्णय लिया गया। नोवल कोरोना वायरस के चलते इलाहाबाद हाईकोर्ट और लखनऊ में वर्चुअल सुनवाई हो रही है।

नए दिशानिर्देशों के अनुसार, वकीलों, मुंशी और वादियों को अदालत परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी। वर्चुअल सुनवाई के दौरान पहले से दर्ज मामलों को भी कोर्ट में पेश किया जाएगा। इसके अलावा निजी कार्यालय में ऑनलाइन आकर भी मामले दर्ज किए जा सकते हैं। इसके लिए परिसर के बाहर काउंटर खोले जाएंगे।

उत्तर प्रदेश ने पिछले 24 घंटों में 992 कोविड मामले दर्ज किए और राज्य में पिछले कुछ दिनों से मामलों में तेजी देखी जा रही है। राज्य में ओमिक्रॉन प्रकार के मामलों का भी पता चला, जिससे यह संख्या 31 हो गई। लखनऊ, गौटा, बुश नगर, गाजियाबाद, मेरठ राज्य के कुछ सबसे ज्यादा प्रभावित शहर हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में अभी इससे कोई मौत नहीं हुई है और 77 लोग संक्रमण से पूरी तरह ठीक हो चुकें हैं।

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।