logo
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु ने भारत के स्वदेशी विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रांत का किया दौरा
 

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने आज कोच्चि में भारत के स्वदेशी विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रांत का दौरा किया। विमानवाहक पोत को ’आत्मनिर्भर भारत अभियान का एक बड़ा प्रतीक’ करार देते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा कि आईएनएस विक्रांत एक स्वदेशी वाहक के तौर पर देश के सपने को साकार करता है।

उपराष्ट्रपति के आगमन पर कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड के सीएमडी, मधु एस नायर और भारतीय नौसेना के अधिकारियों द्वारा विमान वाहक पोत की निर्माण प्रक्रिया और उसके अवलोकन पर एक प्रस्तुति दी गई। बाद में, उपराष्ट्रपति को विमान वाहक के फ्लाइट डेक पर ले जाया गया और उन्हें फ्लाइट डेक डिजाइन और क्षमताओं के बारे में जानकारी दी गई।

इसके बाद कोच्चि में डीआरडीओ की सुविधा, नेवल फिजिकल एंड ओशनोग्राफिक लेबोरेटरी (एनपीओएल) में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, वेंकैया नायडु ने कहा कि वह आईएनएस विक्रांत का दौरा करके गर्व महसूस कर रहे हैं। उन्होंने इसे ’प्रौद्योगिकी का चमत्कार’ बताया।वेंकैया नायडु ने विमानवाहक पोत के निर्माण में भारतीय नौसेना और कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड के बीच सहयोग की सराहना की।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि आईएनएस विक्रांत से समुद्र में हमारी रक्षा तैयारियों को काफी मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा, “देश के विकास के लिए मजबूत नौसेना सचमुच जरूरी है और विमानवाहक पोत का निर्माण सही दिशा में एक कदम है।’

उपराष्ट्रपति की इस यात्रा के दौरान केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, पी. राजीव, उद्योग मंत्री, केरल सरकार और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।