अब वकीलों की वेशभूषा में अपराधी कोर्ट में नहीं सरेंडर कर सकेंगे

by News Desk
62 views

कानपुर। पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए, वकीलों की वेषभूषा पहन कर कोर्ट में सरेंडर करने वाले अपराधी अब अपने मंसूबों में कामयाब नही हो पाएंगे। बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश ने ऐसे अपराधियों और उनको संरक्षण देने वाले अधिवक्ताओं के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का आदेश दिया है।


जब किसी भी बड़े अपराध में पुलिस को अपराधियों की तलाश होती है तो अपराधियों का सबसे बड़ा मकसद होता है कि किसी भी तरह पुलिस के हत्थे ना चढ़े और कोर्ट में सरेंडर कर दें। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह होता है कि अपराधियों को लगता है कि एक बार सरेंडर करने के बाद जेल चले जायेंगे तो कानूनी दांव पेंच का फायदा मिल जाएगा। ऐसे में पुलिस की कोशिश होती है कि अपराधियों को सरेंडर करने से पहले गिरफ्तार कर लिया जाए।


पुलिस की नज़र कोर्ट में भी रहती है इसलिए कि कई बार अपराधी वकीलों की भेषभूषा पहन कर कोर्ट में सरेंडर करते है। जिससे कि पुलिस पहचान ना सके। ऐसे कई मामले कानपुर के विकास दुबे कांड से जुड़े हुए भी आये। इसका संज्ञान लेते हुए बार कौंसिल ऑफ यूपी ने आदेश जारी किया है कि ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। साथ ही अगर कोई अधिवक्ता इसमे संलिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts