Passenger vehicle बनाने वाली कंपनी Skoda Auto India ने ‘सर्टिफाइड Pre-Owned’ प्रोग्राम की शुरुआत करते हुये पुराने कारों के बाजार में प्रवेश किया है। कंपनी ने आज जारी बयान में कहा कि इसके तहत 160 से अधिक सख़्त पैमानों पर आधारित जांच-प्रक्रिया के माध्यम से प्रशिक्षित पेशेवरों द्वारा बेहद सावधानीपूर्वक चयनित वाहनों की एक्सक्लूसिव रेंज को ग्राहकों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा, साथ ही जरूरत पड़ने पर ब्रांड के असली कल-पुर्जों तथा एक्सेसरीज का उपयोग करते हुए वाहन को पहले की तरह शानदार बनाया जाएगा।

इस तरह ग्राहकों के विश्वास के साथ-साथ पारदर्शिता, सुविधा को सुनिश्चित किया जाएगा और उन्हें मन की पूरी शांति प्रदान की जाएगी। उसने कहा कि सर्टिफाइड प्री-ओन्ड प्रोग्राम के तहत खरीदे गए स्कॉडा ऑटो वाहन के साथ निर्माता की ओर से वारंटी भी दी जाएगी, जो 24 महीने या 150,000 किलोमीटर (जो भी पहले हो) तक की सीमा में होगी। इस खास कार्यक्रम के तहत ऐसे वाहन भी उपलब्ध कराए जाएंगे जिन पर स्कॉडा का बैज नहीं लगा होगा, इसके बावजूद ऐसे वाहनों की खरीद पर ग्राहकों को 12 महीने या 15,000 किलोमीटर तक की सीमा में वारंटी उपलब्ध कराई जाएगी।

इसके अलावा, यहां ग्राहक अपनी पुरानी कार की ट्रेडिंग कर सकते हैं (जो स्कॉडा ऑटो के वाहनों के साथ-साथ कोई भी अन्य वाहन हो सकता है), और ग्राहक नए स्कॉडा ऑटो वाहन की खरीद पर आकर्षक एक्सचेंज बोनस का फायदा उठा सकते हैं, जिसमें एग्जीक्यूटिव सेडान, एसयूवी, के साथ-साथ आर एस भी शामिल है। लॉन्च अभियान के साथ ही, रणनीतिक तरीके से नौ केंद्रों पर परिचालन की शुरुआत की गई जिसमें मुंबई, दिल्ली (एनसीआर), कोयम्बटूर, जयपुर, अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, हैदराबाद और गोवा शामिल हैं। आने वाले 12 महीनों में ‘इंडिया 2.0’ प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में चरणबद्ध तरीके से पूरे देश में इसके केंद्रों की शुरुआत की जाएगी।