फिरोजाबाद :- एसएसपी अजय कुमार के निर्देशन में थाना फरिहा पुलिस टीम द्वारा पीएसी जवान कन्हैयालाल की हत्या का सफल अनावरण करते हुये एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया.

इस संबंध में पुलिस लाइन सभागार में हुई प्रेस वार्ता के दौरान एसएसपी अजय कुमार ने बताया कि थाना फरिहा क्षेत्र ग्राम नवलपुर में छह फरवरी को वादी योगेश कुमार पुत्र रमाशंकर उर्फ वीरपाल सिंह के द्वारा अपने भाई कन्हैयालाल जो 38वीं वाहिनी पीएसी अलीगढ़ में तैनात थे और अवकाश के दौरान घर पर आए हुये थे जिनको आग लगाकर जला देने और इलाज के दौरान मृत्यु हो जाने के फलस्वरूप तहरीर देकर अभियुक्त बबलू उर्फ नवीन पुत्र चोब सिंह, विष्णू पुत्र बबलू उर्फ नवीन, रिन्कू पुत्र बबलू उर्फ नवीन निवासीगण नवलपुर के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया था।

पीएसी जवान की नृशंस हत्या के कारण स्वयं एसएसपी द्वारा उक्त घटना का तत्काल प्रत्येक पहलू पर गहनता से जांचकर सफल अनावरण किये जाने को निर्देशित किया गया था। एसपी ग्रामीण के पर्यवेक्षण एवं सीओ जसराना के नेतृत्व में गहनता से जांच की गई तो विवेचना में नामजद तीनों व्यक्तियों की नामजदगी गलत पायी गयी। अभियुक्त अरविंद पुत्र सौप्रसाद निवासी ग्राम नवलपुर थाना फरिहा का नाम प्रकाश में आया। कौरारी पुलिया से बीती रात उसे गिरफ्तार कर लिया गया

पूछताछ में अभियुक्त ने बताया कि दो तीन वर्ष से एक महिला से उसका प्रेम संबंध चल।रहा है। जिससे वह मिलने जुलने लगा था। चार फरवरी 2020 की रात्रि को प्रेमिका के घर पहुंचा तो बेड पर गांव का कन्हैया उर्फ विमलेश पुत्र वीरपाल चादर ओढ़कर सो रहा था। जिसे देख गुस्सा आया और माचिस की तीली जलाकर सो रहे कन्हैयालाल के द्वारा ओढ़ रखी चादर में आग लगा दी और प्रेमिका की साड़ी कन्हैया के ऊपर डाल दी और भाग गया। कन्हैयालाल नशे में था इसलिए आग से नहीं उठ पाया। बुरी तरह झुलस जाने से उसकी मौत हो गयी। इस दौरान एसपी ग्रामीण भी मौजूद रहे

रिपोर्ट-सिद्धार्थ तिवारी