उरई। एट पुलिस, एसओजी व सर्विलांस सेल की संयुक्त टीम ने एट क्षेत्र के ग्राम ईगई कला में हुई हत्या के मामले दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके पास से तमंचा व कारतूस बरामद कर लिए। पूरे मामले का खुलासा एसपी ने किया। पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने बताया कि बीते 9 दिन पूर्व रामलखन पुत्र श्रीलाल निवासी इगुई कला थाना एट ने तहरीर दी थी कि बीती 10 अक्टूबर की रात्रि को मेरे पुत्र रामसेवक उम्र करीब 42 वर्ष घर के बाहर सो रहा था तभी किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दीथी।

इस संबंध में थाने में धारा 302 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। इसी मामले को संज्ञान में लेते हुए एसपी रवि कुमार ने एट थाना पुलिस एवं एसओजी व सर्विलांस की संयुक्त टीम को इस मामले में लगाया था।जिस पर उन्होंने महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्रित कर थाना क्षेत्र के पिंडारी मोड़ के पास से मंगलवार को अभियुक्त दुर्गेश कुमार अहिरवार पुत्र आसाराम अहिरवार निवासी नई बस्ती मोती नगर थाना कालपी और मोहित कुमार पुत्र चतुर्भुज अहिरवार निवासी निकला थाना एट को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए अभियुक्तों के पास से एक तमंचा 315 बोर व दो मोबाइल बरामद हुए।

जबकि तीसरा अभियुक्त सुरेंद्र पुत्र बालेश्वर ग्राम इगुई थाना एट मौके से भाग गया। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। पकड़े गए आरोपी दुर्गेश ने पुलिस को बताया कि मेरी मौसी की शादी इगुई कला में शादी हुई थी। उनका लड़का मानसिक रूप से विक्षिप्त था। उसको मृतक रामसेवक ने तंत्र मंत्र से ठीक करने का वादा किया था। परंतु रामसेवक के तंत्र मंत्र उसकी हालत और खराब हो गई जिससे उसकी मृत्यु हो गई।इसी बात को लेकर वह लोग नाराज थे।

इसलिए उसने अपनी मौसी के लड़के सुरेंद्र पुत्र बालेश्वर निवासी इगुई कला थाना एट के साथ मिलकर बीती 10 अक्टूबर की रात्रि में इगुई कला में रामसेवक की। उसके घर के बाहर सोते समय सिर में गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस पर पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया। वांछित आरोपी की पुलिस तलाश कर रही है।

गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक विनय दिवाकर, निरीक्षक जितेंद्र सिंह, सर्विलास प्रभारी कुलभूषण सिंह, उप निरीक्षक गोकुल सिंह, रवि मिश्रा, उपनिरीक्षक राजकुमार, योगेंद्र शर्मा, रवि कुमार, कांस्टेबल मनोज कुमार , रोहित सिंह,जगदीश चंद्र, कर्मवीर सिंह, रोहित गुर्जर, अमर सिंह, जितेंद्र कुमार, महिला कांस्टेबल शबनम , चालक देवदत्त रहे एसपी ने सभी को प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की।

दीपू दिवेदी