सुपौल के त्रिवेणीगंज नप क्षेत्र अंतर्गत जनता रोड से वंशी चौक होते हुए मेला ग्राउंड तक 1.680 किलोमीटर तक रात के अंधेरे में बनाए गए घटिया सड़क निर्माण को लेकर ग्रामीणों द्वारा काम रोके जाने के बाद जिलाधिकारी महेंद्र कुमार ने संज्ञान लेते हुए घटिया सड़क निर्माण की जाँच को लेकर चार सदस्यीय जांच टीम गठित कर जाँच टीम से एक सप्ताह के अंदर जाँच रिपोर्ट की मांग किए हैं।

क्या है पूरा मामला

दरअसल मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ अनुरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत त्रिवेणीगंज बाज़ार के जनता रोड से वंशी चौक होते हुए मेला ग्राउंड तक 68 लाख 18 हज़ार 345 रुपये की लागत से 1.680 किमी की सड़क का निर्माण हो रहा था।कुछ दिनों पूर्व उक्त सड़क के निर्माण को संवेदक घटिया मेटेरियल के साथ रात के अंधेरे में एक ही दिन में लगभग पूरा कर दिया।सुबह लोगों के जागने के बाद उक्त सड़क को जीर्णशीर्ण अवस्था में बना देख ग्रामीण भड़क उठे।रात के अंधेरे में बना सड़क सुबह होते ही दरकने लगा था।जिसके बाद ग्रामीणों ने काम रोक दिया और हंगामा शुरू कर दिया।हंगामा को शांत करने के लिए त्रिवेणीगंज एसडीओ एस जेड हसन मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों की शिकायत व घटिया सड़क निर्माण से वरीय अधिकारियों को अवगत कराया।

अब होगी इस मामले की बारीकी से जाँच

उक्त घटिया और रद्दी निर्माण कार्य को लेकर जिलाधिकारी महेंद्र कुमार ने बीते 13 जुलाई को पत्रांक 357-2 के माध्यम से त्रिवेणीगंज एसडीओ एस जेड हसन की अगुवाई में चार सदस्यीय जांच दल का गठन कर उक्त मामले की जाँच कर एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट मांगा है।

रिपोर्ट:–संतोष कुमार,सुपौल