मुरादाबाद : उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति जनजाति आयोग की सदस्य साध्वी गीता ने संभल के सपा विधायक और पूर्व मंत्री इकबाल महमूद के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि देश की जनता और बेरोजगारी दलितों से नहीं, बल्कि मुस्लिम समुदाय ने दो दो बीवियां और 20-20 बच्चों से दी है।
संभल में पूर्व मंत्री इकबाल महमूद ने कहा था कि जनसंख्या नियंत्रण कानून का असर हम पर नहीं, बल्कि दलित, गरीब और आदिवासियों पर होगा। उनके पास नौकरी नहीं है, काम धंधे नहीं हैं, इसलिए उनके बच्चे बढ़ रहे हैं।

साध्वी गीता ने मुरादाबाद में पूर्व मंत्री के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि हम मुस्लिम समुदाय में भी जाते हैं। बहुत सारे ऐसे परिणाम बता सकती हूं, जिनकी दो दो, तीन तीन पत्नियां हैं और एक एक के बीस बीस बच्चे हैं।

उन्होंने कहा कि दलितों और आदिवासियों पर उंगली उठाने से पहले इकबाल महमूद अपने समुदाय के लोगों को समझाएं कि वह तीन तीन बीवियां रखना और 20-20 बच्चे पैदा करना बंद करें। उनसे यह बेरोजगारी फैल रही है। देश में गरीबी आ गई है। भारतीय जनता पार्टी और सरकार यह कानून ला रही है। जब यह कानून आएगा तो सबको इस कानून को अपनाना पड़ेगा। क्योंकि सरकार सर्वसमाज को लेकर काम कर रही है। चाहें वह हिंदू हो या मुसलमान हो, लेकिन कुछ समुदाय के लोग हमारी सरकार को बदनाम कर रहे हैं।

वार्ता