फर्रूखाबाद :: समाजवादी पार्प्रटी (सपा) से नजदीकियां बढ़ाने की लालसा को सार्वजनिक करते हुये प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता से बेदखल करने के लिये सपा समेत अन्य समान विचारधारा के दलों को एक मंच पर आ जाना चाहिए।

यादव ने शनिवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि उनकी पार्टी को अस्तित्व में आये अभी ज्यादा समय नहीं हुआ लेकिन पार्टी ने प्रदेश में चुनाव लड़ाने की तैयारी शुरू कर दी है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिये समाजवादी पार्टी (सपा) समेत समान विचारधारा वाली सेकुलर पार्टियाें को एक मंच पर आ जाना चाहिए।

उन्होने कहा कि इसके लिये उन्होने विभिन्न दलों से बातचीत शुरू कर दी है। प्रसपा की प्राथमिकता समाजवादी पार्टी के लिये है। इस दिशा में सबसे पहले सपा से गठबंधन को तवज्जो दी जायेगी और जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आयेगा वैसे-वैसे ही समान विचारधाराओं की सेकुलर पार्टियों से सपा का गठबंधन होगा।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा सम्मान किये जाने के प्रश्न पर शिवपाल ने बिना नाम लिये कहा “ मैं उनका चाचा हूं और वो मेरा सम्मान करते हैं। वैसे गठबंधन में मैंने कोई शर्त नहीं रखी लेकिन प्रसपा से गठबंधन होने पर हमारे साथ जुड़े लोगों तथा जिताऊओं को टिकट देने का भी सम्मान मिलना चाहिए।”

छत्तीसगढ़ विधानसभा में नमाज पढ़ने लिये जगह देने के मामले पर उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में भी नमाज पढ़ने के लिये जगह मिलनी चाहिए। प्रदेश में कानून व्यवस्था के प्रश्न पर यादव ने कहा कि अपराध बढ़े है, चोरी, डकैती, लूट, बालात्कार आदि की अपराधिक घटनाओं को रोकने में सरकार पूरी तरह से विफल रही है। इसके साथ ही डेंगू, वायरल बुखार और इससे पहले कोरोना के लिये अस्तपालों में अच्छी दवाईयां न मिलने से रोगों पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है।

उन्होने कहा कि सपा के सत्ता में आते ही गंगा एक्सप्रेस वे को फर्रूखाबाद गंगा के किनारे निकालने की कार्यवाही शुरू होगी ताकि आलू पर आधारित कारखाना भी आलू किसानों के लिये लगाया जायेगा।



वार्ता