राजस्थान : वैश्विक महामारी के चलते देशभर में बच्चों के पढ़ाई का तरीका ही बदल दिया था। स्कूल के कमरों की ऑनलाइन आ गई थी। कोरोना काल में बच्चों के लिए बंद चल रहे स्कूल कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को राजस्थान सरकार खोलने की तैयारी कर रही है।  शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासारा ने कैबिनेट की बैठक के बाद ट्वीट करके 2 अगस्त से स्कूल खोलने की घोषणा कर दी है। कक्षा 1 से 12वीं कक्षा तक के स्कूलों को खोलने के लिए राजस्थान सरकार ने फैसला लिया है इस फैसले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में स्कूल, कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में कक्षाएं शुरू करने का फैसला किया गया।

कोचिंग और कॉलेज खोलने की तारीख बाद में तय होगी। कोराना की दूसरी लहर के बाद से मार्च से ही स्कूल, कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए बंद हैं। मंत्रिपरिषद की बैठक में स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों सहित विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में कक्षाएं शुरू करने को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। मंत्रिपरिषद ने स्कूल, कॉलेज खोलने पर एक्सपर्ट की राय जानी। कोरोना कोर ग्रुप के एक्सपर्ट्स ने इस पर सकारात्मक रुख दिखाया। मंत्रिपरिषद में यह सहमति बनी कि कोविड प्रोटोकॉल की पालना और सभी सावधानियों को बरतते हुए शिक्षण संस्थाओं को खोला जाए।

अलग से एसओपी जारी होगी

स्कूल, कॉलेज और कोचिंग खोलने के लिए अलग से एसओपी जारी की जाएगी। गृह विभाग जल्द एसओपी जारी करेगा। शिक्षा विभाग ने 6 से 12 वीं कक्षा तक में बच्चों को स्कूल बुलाने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने इस पर आपत्ति की थी। शिक्षा विभाग ने इससे पहले कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों को स्कूल बुलाने का प्रस्ताव भी दिया था।