झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी स्थित जिला जेल में एक कैदी ने पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। जेल सूत्रों ने बताया कि बबीना थानाक्षेत्र के बुढृपुरा गांव का निवासी नंदू उर्फ नंदराम (35)वर्ष 2012 से आजीवन कारावास की सजा काट रहा था उसी ने बुधवार देर शाम जेल परिसर में एक पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कैदी के फांसी लगाने की सूचना मिलते ही जेल प्रशासन और आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और शव को पेड़ से उतारा गया।


जेल अधीक्षक राजीव शुक्ला ने गुरूवार को बताया कि नंदू नवंबर 2010 से जेल में बंद था और उसे दिसम्बर 2012 में आजीवन कारावास की सजा सुनायी गयी थी। वह मानसिक रूप से कुछ बीमार था और दवाई भी ले रहा था। उसके आत्महत्या के पीछे कारण तो अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और आज उसका पोस्टमार्टम किया जायेगा। मामले की जांच पूरी होने के बाद ही कुछ साफ हो पायेगा।


गौरतलब है कि नंदू एक दलित हत्या मामले में 2012 में दोषी पाया गया था और तभी से जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था।

वार्ता