नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोरोना को हराने के लिए निरंतर टीकाकरण को अनिवार्य बताते हुए कहा है कि सरकार इस दिशा में गंभीरता से काम करने की बजाए अपने प्रचार को महत्व देते हुए सिर्फ उत्सव आयोजित कर रही है।

राहुल गांधी ने बुधवार को कहा, “कोरोना टीकाकरण जब तक निरंतर बड़े स्तर पर नहीं होता, हमारा देश सुरक्षित नहीं है। अफ़सोस, केंद्र सरकार पीआर इवेंट से आगे नहीं बढ़ पा रही।”

प्रियंका ने डेल्टा+ वेरिएंट पर चेताया

प्रियंका वाड्रा ने कहा,“डेल्टा+ वैरिएंट देश में दस्तक दे चुका है। अभी मात्र 3.6 प्रतिशत आवादी का पूर्ण टीकाकरण हुआ है। लेकिन प्रधानमंत्री महोदय इवेंट मैनेजर की भूमिका अपनाए हुए हैं। खुद की पीठ थपथपाने के अगले ही दिन टीकाकरण में 40 प्रतिशत की गिरावट आ गई।”

कोविड-19 टीके की 22 देशों से आयी है मांग: स्वास्थ्य मंत्री

उन्होंने कहा कि टीकाकरण उत्सव के दिन जितने टीके लगते है उंसके अगले ही दिन उसके बहुत कम टीके लगे। उन्होंने ट्वीट में आगे कहा,“रिकॉर्ड वैक्सीन के प्रोपोगैंडा का फार्मूला, मध्यप्रदेश, 20 जून-692 वैक्सीन लगी, 21जून-16,91,967 और 22 जून को 4825 वैक्सीन लगी। वैक्सीन जमा की, इवेंट के लिए एक दिन लगा दी, फिर अगले दिन कम। दिसंबर तक सबको वैक्सीन देने के लिए देश में प्रतिदिन 80-90 लाख वैक्सीन लगानी होंगी।”