संभल : संभल से रेलवे स्टेशन अधीक्षक की गुंडई सामने आई है. रेलवे अधिकारी ने पत्रकार पर तमंचे से हमला किया है. घटना को cctv विडियो में साफ देखा जा सकता है. पत्रकार का कहना है की पुलिस ने मामले को घुमाया तमंचों को एयरगन बताया है.

पुलिस का कारनामा आपने सुना होगा कि पुलिस रस्सी का सांप बना देती है आपने देखा होगा की UP के संभल में पूर्व में चर्चा का बिषय बनने बाली संभल पुलिस अपराधियों का मुंह से एनकाउंटर कर देती है । नया वायरल वीडियो में संभल पुलिस का एक और नया कारनामा सामने आया है. पुलिस की रस्सी को साँप बनाने वाली कहाबत आपने खूब सुनी होगी मगर इस खबर में आप उलटा सांप को रस्सी बनते देखेंगे ।

दरअसल मामला 10 अक्टूबर चन्दौसी थाना क्षेत्र विकासनगर का है पुरानी रंजिश के चलते एक चंडौस रेलवे स्टेशन अधीक्षक आशीष मिश्रा अपने दोनों हाथो में अबैध तमंचे लेकर जान से मारने की नियत से एक युवक के पीछे भागता है और तमंचे देख पीड़ित युवक अभय गुप्ता मौके से भाग खड़ा होता है और गोली लगने के डर से एक घर में जा कर छुप जाता है । पर ये सारी वारदात एक घर के बाहर लगे CCTV कैमरे में कैद हो जाती है।

मौका पाकर पीड़ित युवक अपनी जान बचाकर चन्दौसी पुलिस थाने पहुंचता है और अपने साथ हुई घटना चन्दौसी थाना प्रभारी को बताता है और CCTV फुटेज पुलिस को दिखाता है तो पुलिस CCTV फुटेज देखने के बाद कह देती है कि रेलवे स्टेशन अधीक्षक के दोनों हाथो में एयर गन थे ना कि अबैध असलाह था.

और मामले को गाली गलोच की धारा 504 ,506 में दर्ज कर मामले को खत्म ही कर देती है। मगर CCTV फुटेज में रेलवे स्टेशन अधीक्षक आशीष मिश्रा के दोनों हाथो में सफेद रंग के दो अबैध तमंचे लोड करते हुए साफ़ दिखाई दे रहे है और पुलिस जिन तमंचों को आरोपी रेलवे स्टेशन अधीक्षक से बरामद दिखा रही है.

आपको बता दे की जिस युवक को रेलवे स्टेशन अधीक्षक हाथो में दो अबैध तमंचे लिए दौड़ा रहे है वह पेशे से एक पत्रकार है और कुछ दिन पूर्व इस पत्रकार ने एक मर्डर की खबर की सच्चाई अपने अखबार में छापी थी उसी मर्डर के पैरोकार है ये रेलवे स्टेशन अधीक्षक आशीष कुमार मिश्रा मर्डर की खबर छापने से नाराज पत्रकार से रंजिश मान रहे रेलवे स्टेशन अधीक्षक ने 10 अक्टूबर को पत्रकार को जान से मारने का प्रयास कीया. मगर रसूक के चलते पत्रकार को कानून से भी न्याय ना मिल सका । अब पीड़ित पत्रकार जगह जगह भटकर अपनी जान की सलामती की गुहार लगा रहा है ।