कुठौंद(जालौन)|| हम आपको बताते चलें कि मामला हाजीपुर गांव का है जहां पर बारिश से चार मकान गिर गए थे वहीं ग्राम प्रधान ने लेखपाल अभय सिंह को  सूचना दी लेकिन महीने बीत गए अभी तक उनकी नहीं हुई जांच ऐसे में मीडिया टीम जब उनके गांव पहुंची तो ग्राम प्रधान प्रतिनिधि दीपक परिहार वह ग्राम के रहने वाले सुखराम पुत्र रघुनाथ राठौर जयनारायण पुत्र मूलचंद प्रेमदास पुत्र बाबूराम ममता देवी वाइफ ऑफ कृष्णकांत माधुरी पत्नी बृजेश इन सभी लोगों ने मीडिया टीम को बताया हमारे कच्चे मकान गिरने की सूचना लेखपाल अभय सिंह को दी गई थी अभी तक मेरे मकान की सर्वे करने नहीं आए जिससे हम सभी लोग एक दूसरे के मकान में रह रहे हैं।

आस्था उत्तर प्रदेश की सरकार कई वादा करती है माननीय प्रधानमंत्री जी जिनको छत ना हो उनको छत दिलाने का काम कर रहे हैं वहीं बैठे हुए जिले के आला अधिकारी उन योजनाओं को पलीता लगा रहे हैं बड़ी अनदेखी यहां हो गई कि ग्रामीणों ने लेखपाल को सूचना देने पर लेखपाल साहब अभी तक नहीं पहुंचे ऐसे में मीडिया को उन्होंने रूरू करते हुए बताया हम अपने बच्चे लेकर दूसरे के मकान में रह रहे हैं अतः मुझे आवास की आवश्यक जरूरी है देखते हैं आला अधिकारी इनको आवास दिला पाते या नहीं।

रिपोर्ट ::- भूपेंद्र सिंह