अदालत फ़ासी दे या मुक्ति सब स्वीकार है

by saurabh
Published: Last Updated on

कानपुर: अयोध्या ढांचे पर आने वाले फैसले को लेकर बजरंग दल के पूर्व अध्यक्ष प्रकाश शर्मा बोले हम तो राम मंदिर के लिए लगे थे। अदालत फ़ासी दे या मुक्ति सब स्वीकार है। कांग्रेस ने राजनैतिक विरोध में मुकदमा लिखाया था ।

अयोध्या ढांचे को लेकर अदालत का जो फैसला आने वाला है उसको लेकर मुकदमे के सभी आरोपी फैसले को लेकर तैयार है। कानपूर के रहने वाले बजरंग दल के पूर्व अध्यक्ष प्रकाश शर्मा भी केस में आरोपी है।

प्रकाश शर्मा का कहना है कि कांग्रेस ने राजनैतिक विरोध में केस दर्ज कराया था। हम लोग तो भगवान् राम के भव्य मंदिर बनवाने के लिए लगे थे। अब तो भगवान् का मंदिर भी बन रहा है। अदालत जो भी फैसला देगी सब स्वीकार है। चाहे फ़ासी दे या मुक्ति दे।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts