ग्रामीण हस्तकला उद्योग होगा पांच लाख करोड़ का: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि सरकार ने लोगों को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण हस्तकला उद्योग का करोबार पांच लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य रखा है।

राजनाथ सिंह ने यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 26वें हुनर हाट का उद्घाटन करने के बाद आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में ग्रामीण हस्तकला उद्योग का सालाना कारोबार 80 हजार करोड़ रुपये है जिसे अगले दो-तीन साल में बढ़ाकर पांच लाख करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने कहा कि कला, प्रतिभा और क्षमता सिर्फ अट्टालिकाओं में ही नहीं, बल्कि गांव और गलियों में भी होती है। दस्तकारों, शिल्पकारों और कलाकारों का देश की अर्थव्यवस्था में योगदान है।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण उद्योग को जितना प्रोत्साहन मिलना चाहिए था, उतना नहीं मिला। सरकार विकास में विश्वास करती है और इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें- आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की नींव रखने वाला बजट: राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा कि हस्तशिल्प को जो बाजार उपलब्ध कराया जाना चाहिए था, वह नहीं मिल सका है। इसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग की जानी चाहिए ताकि वस्तुओं को उचित कीमत मिल सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण कलाकारों ने कोरोना काल को अवसर में बदला है जो बेहद प्रशंसनीय है। उन्होंने हुनर हाट के सफल आयोजनों के लिए अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की सराहना की ।

रक्षा मंत्री ने कहा कि हुनर हाट एक साझा मंच देता है और देश की सांस्कृतिक और समृद्ध विरासत को दिखाता है। यहां कलाओं की अद्भुत प्रदर्शनी है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का लक्ष्य हासिल करने में हुनर हाट बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा।

इन्पुट- यूनीवार्ता