एक दिन पहले माइक्रो प्लान बनाकर की जाए सैंपलिंग

by News Desk
32 views

कानपुर। अपर मुख्य सचिव उ०प्र० शासन, आलोक कुमार, प्रथम ने नगर निगम के आईसीसीसी कन्ट्रोल रूम में कोविड-19 के बचाव व रोकथाम हेतु टीम में लगे सभी प्रभारी अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद में जितने डाक्टर है उन सभी की अधतन सूची बनाकर उनमें से विशेषज्ञ चिकित्सकों को चिन्हित करते हुए कोविड अस्पतालों में ड्यूटी लगायी जाये। उन्होंने कहा कि सैम्पलिंग के लिए जो मानक निर्धारित है उस मानक के अनुरूप सैम्पलिंग कार्य हेतु एक दिन पूर्व माइक्रो प्लान तैयार कर अगले दिन उसके अनुरूप सैम्पलिंग करायी जाये। उन्होंने कहा कि प्राइवेट अस्पतालों में मानव संसाधन बढाया जाये व प्राइवेट अस्पतालों की सघन समीक्षा करके हो रही मृत्यु पर प्रभावी अंकुश लगाया जाये। इसके साथ ही कोविड के लक्षणयुक्त मरीज मिलने पर उसी दिन सैम्पलिंग की जाये। यह भी कहा कि सैम्पलिंग में जो पाॅजिटिव आ रहे है उनका होमआइसोलेशन अथवा फैसलिटि एलोकेशन शीघ्र कराया जाये। उन्होंने कोविड मरीजो की मृत्यु दर में कमी लाये जाने के लिए गम्भीर मरीजो के साथ सभी कोविड मरीजो को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने के साथ उनकी नियमित निगरानी रखने के निर्देश दिये।

बैठक में उन्होंने निर्देशित किया कि कोविड धनात्मक केसों की कान्टेक्ट ट्रेसिंग निर्धारित समय पर कराते हुए हाईरिस्क व लक्षणयुक्त मरीज मिलने पर उनकी तत्काल कोविड जाॅच की जाए। कोविड के मरीजो के मिलने पर रैपिड रिस्पान्स टीमों को शतप्रतिशत लोगों के घर-घर जाकर होम आइसोलेट कराये जाने एवं होमआइसोलेशन की सुविधायें एवं व्यवस्थाओं को भी चेक करे तथा फैसलिटि एलोकेशन की व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिये।

उन्होंने काशीराम एवं हैलट में जो बेड एवं अन्य व्यवस्थाओं को बढाने के लिए कार्य कराये जाने है उनका एक्शन प्लान तैयार कर प्रतिदिन उसकी समीक्षा करते हुए कार्यो को शीघ्र कराया जाये। कन्ट्रोल रूम में प्राप्त होने वाली शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण किये जाने तथा किस किस प्रकार की शिकायतें प्राप्त हुयी है उनका सम्पूर्ण विवरण रखा जाये। कोविड पाॅजिटिव मरीज पाये जाने वाले क्षेत्रों में सेनेटाइज कराया जाये। उन्होंने कहा कि सर्विलांस टीम प्रत्येक क्षेत्र में एक्टिव रहे तथा एम्बुलेंस सर्विस के द्वारा निर्धारित समय से मरीजो को फैसलिटि एलोकेट आरआरटी टीम से समन्वय कर कराया जाये, इस कार्य में देरी नही होनी चाहिए। बैठक में जिलाधिकारी आलोक तिवारी, नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी डा० महेन्द्र कुमार, अपर जिलाधिकारीगण एवं सीएमओ डा० अनिल मिश्रा सहित प्रभारी चिकित्सा अधिकारीगण उपस्थित रहे।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts