लखीमपुर-खीरी। कई महीने बीत गए हैं किसानों का संघर्ष अभी भी जारी है। किसान संशोधन बिल को लेकर किसान अभी भी अपनी मांगों को लेकर बॉर्डर पर डटे हुए हैं। भले ही आप खबरों का सिलसिला थम गया हो लेकिन किसान अभी भी अपनी बात को लेकर डटे हुए हैं। वहां किसान अपनी मांगों को लेकर डरते हैं तो उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में एक किसान ने किसान बिल के समर्थन में अपने खेत में बुवाई हुई गेहूं की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया।

आपको बता दें कि रविवार को थाना क्षेत्र सम्पूर्णानगर के एक किसान ने दिल्ली की सीमा पर जारी किसानों के धरने का समर्थन करते हुए खेत में खड़ी गेहूं की फसल को जोत कर नष्ट करते हुए केंद्र सरकार के प्रति नाराजगी जताई।

उल्लेखनीय है कि कुछ माह पूर्व भारत सरकार ने तीन नए कृषि कानून लेकर आई है। परंतु देश के किसान केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों को किसान विरोधी बता कर उसे वापस कर एमएससी पर कानूनी गारंटी की माँग करते आ रहे हैं । किसान बीते 100 दिन से भारत की आर्थिक राजधानी दिल्ली की सीमा पर लगातार विरोध प्रदर्शन करते चले आ रहे हैं, उन्हें देश के अन्य हिस्सों से लगातार समर्थन मिलने की खबरें भी मिल रही हैं। रविवार को पलिया ब्लॉक के थाना क्षेत्र सम्पूर्णानगर के अंतर्गत स्थित ग्राम गोविंदनगर कॉलोनी निवासी युसूफ खान पुत्र अशरफ खान ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए अपने खेत में खड़ी एक एकड़ से ज्यादा गेहूँ की फसल को जोत दिया। खेत जोतने का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल भी हो रही है। बता दें इसी ब्लॉक के एक किसान ने कुछ माह पूर्व धान का समर्थन मूल्य ना मिलने से खेत में खड़ी लगभग साढे 3 एकड़ धान की फसल जोत दी थी।

रिपोर्ट-गोविन्द कुमार