कानपुर। शहर को पर्यटन के नक्शे पर उभारने के लिए मंडलायुक्त राजशेखर द्वारा किये जा रहे अथक परिश्रमों को उड़ान देने के लिए आज मर्चेन्ट चेंबर हॉल में ‘ कानपुर में पर्यटन की संभावनाएं’ के विषय पर गोष्ठी का आयोजन किया गया।

गोष्ठी का शुभारंभ मंडलायुक्त डॉ राजशेखर एवं पुलिस महानिरीक्षक कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल द्वारा किया गया। मंंडलायुक्त डॉ राजशेखर ने कहा कानपुर महानगर ऐतिहासिक सांस्कृतिक धार्मिक पौराणिक एवं व्यवसायिक दृष्टि से देश के महत्वपूर्ण स्थलों में प्रमुख स्थान रखता है, जिस के दृष्टिगत कानपुर महानगर में पर्यटन की अनंत संभावनाएं हैं। आज आवश्यकता है कि पर्यटन उद्योग को विकसित कर रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाया जाए एवं कानपुर महानगर की संस्कृति और ऐतिहासिकता से पर्यटकों को आकर्षित किया जाए।

उन्होंने बताया कि कानपुर नगर को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने हेतु कार्य योजनाएं बनाई गई है जिसमें मुख्य रूप से –

  • कानपुर शहर का वार्षिक पर्यटन कैलेंडर बनना जिसके अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में प्रमुख कार्यक्रमों का आयोजन कराना जिससे शहर में खुशहाली के साथ रोजगार सृजन भी हो। ।
  1. पर्यटन ब्रोशर तैयार करना।
  2. पर्यटन एप्स को शुरू करना।
  3. कानपुर नगर के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों का शैक्षिक एवं सांस्कृतिक भ्रमण टूरिस्ट बस के द्वारा आयोजन कराना।
  4. स्कूलों एवं महाविद्यालयों में सांस्कृतिक एवं पर्यटन क्लब की स्थापना करना।
  5. सांस्कृतिक धरोहरों की लघु मूवी तैयार कर पर्यटकों को शहर की प्रति आकर्षित कराना।
  6. कानपुर पर्यटन का थीम सॉन्ग भी तैयार करने की योजना है।
  7. कानपुर नगर का एक स्लोगन विकास एवं विरासत की नगरी कानपुर से भी कानपुर की पहचान दिलाना। कानपुर पर्यटन के लोगो का भी विशिष्ट अतिथि गणों की उपस्थिति में

आयुक्त कानपुर मंडल एवं पुलिस महानिरीक्षक द्वारा अनावरण किया गया। पुलिस महानिरीक्षक कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल ने धार्मिक और सांस्कृतिक दृष्टि से कानपुर को पहचान दिलाने पर बल दिया उन्होंने कहा यह प्रदेश में पहला अवसर है जब किसी जनपद में पर्यटन के विकास हेतु ऐसी समिति का गठन किया गया है उन्होंने कहा मेरा विश्वास है कि यह समिति बहुत जल्द ही कानपुर नगर को एक नया स्वरूप प्रदान करेगी।

मुख्य विकास अधिकारी एवं प्रभारी जिलाधिकारी डॉ महेंद्र कुमार ने कानपुर नगर की ऐतिहासिकता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कानपुर नगर का अपना गौरवशाली इतिहास है आज जरूरत है तो शहर के विभिन्न संगठनों के सहयोग से हम मिलकर कार्य करें और कानपुर नगर को फिर से वही गौरव प्रदान करें।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक यातायात बसंत लाल ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि पर्यटन विकास एवं प्रोत्साहन समिति बहुत जल्द ही अपने उद्देश्यों को पूर्ण करेंगी। उन्होंने कहा कि अधिकारी कुछ समय के लिए किसी भी शहर में आते है, और ज्यादा से ज्यादा 3 साल बाद उनका ट्रांसफर हो जाता है। लेकिन यह शहर की विरासत आपकी है, इसे आपको ही सहेज कर रखना है।

समिति समन्वयक विश्वविद्यालय के डॉ सुधांशु राय ने समिति के उद्देश्य एवं कार्य योजना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज पर्यटन विश्व और देश के प्रमुख उद्योगों में दूसरे नंबर पर आता है और रोजगार एवं आय सृजन का एक महत्वपूर्ण माध्यम है।

उन्होंने शहर के प्रमुख पर्यटक स्थलों विशेष रुप से भीतरगांव मंदिर निबिया खेड़ा बेहटा बुजुर्ग इस्कॉन टेंपल जेके टेंपल इत्यादि के बारे में बताते हुए कहा कि आज यह समस्त स्थल पर्यटन की संभावनाओं को और बढ़ाते हैं हमें अपना नजरिया सकारात्मक रखना पड़ेगा और इस पर विचार करना है की हमारे शहर में क्या संभावनाएं हैं।

इस अवसर पर अपर आयुक्त ए एस शुक्ला संयुक्त आयुक्त उद्योग सर्वेश्वर शुक्ला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉक्टर पवन तिवारी नोडल अधिकारी स्मार्ट सिटी मोहम्मद साकिब खान क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अनुपम श्रीवास्तव उप निदेशक सूचना मनोज बंका पर्यटक अधिकारी डॉ अर्चिता ओझा उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ रिपुदमन सिंह मर्चेंट चेंबर अध्यक्ष मुकुल टंडन इस्कॉन मंदिर के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवकीनंदन जी सचिव मर्चेंट चेंबर महेंद्र मोदी शिव कुमार गुप्ता रुचि त्रिवेदी रेखा रानी दिवाकर डॉक्टर ओम प्रकाश आनंद डॉ हेमंत मोहन जीएम उद्योग केंद्र सिमरनजीत सिंह मोहित सिंह गया प्रसाद शर्मा शेष नारायण त्रिवेदी संजय त्रिवेदी अमित बाजपेई विजेंद्र सिंह डॉ अनुपम जैन सहित विभिन्न संगठनों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद रहे।