logo
फिल्मी अंदाज में बहन के आशिक के कत्ल की रचाई साजिश, ऐसे उठा राज से पर्दा
 

बिहार। आपने फिल्में देखी होंगी उसमें जब बहन को प्यार होता है। तो बहन और उसके प्रेमी के बीच सबसे पहले जो विलेन बनता है, वह भाई होता है। आज हम जो आपको वाक्य बताने जा रहे हैं, वह कोई रील लाइफ का सीन नहीं, बल्कि रियल लाइफ की घटना है।

मामला बिहार के रोहतास जिले का है। जहां पर घटी एक घटना का जो खुलासा हुआ वह बिल्कुल फिल्मी अंदाज में है। जो तथ्य निकलकर सामने आए वह चौका देने वाले थे। इस पूरी कहानी में बहन अपने प्रेमी के प्यार में पागल थी और भाई के मना करने के बाद जब बहन नहीं मानी, तो भाई ने विलेन बन रच डाली फिल्मी अंदाज में हत्या की साजिश।

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि बिहार के रोहतास जिले में छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बीती 6 जनवरी की रात्रि बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्कामिनी नगर मोहल्ले में किराए के मकान में रहकर पढ़ाई कर रहे दो छात्रों पर अज्ञात अपराधियों द्वारा हमला कर एक छात्र को मौत के घाट उतार दिया था। जबकि दूसरा छात्र गंभीर रूप से घायल था। घटना से हड़कंप मच गया था घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल छात्र को आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती करवाया जहां उसका इलाज चल रहा है एवं मृतक के शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया एवं वैधानिक कार्रवाई में जुट गई। कहते हैं कि कानून के लंबे हाथों से कोई भी अपराधी नहीं बच सकता चाहे वह कितना भी शातिर हो वही देखने को मिला। मात्र कुछ ही दिनों में पुलिस ने आरोपियों का पता लगा लिया और आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया।

देखिए कैसे उठा हत्याकांड से पर्दा

जिला पुलिस अधीक्षक रोहतास आशीष भारती के निर्देशानुसार टीमों का गठन कर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई। जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार पुलिस की टीमें आरोपियों की तलाश में लग गई। कहते हैं कि कानून के हाथों से कोई भी अपराधी नहीं बच सकता चाहे वह कितना भी शातिर हो और मात्र कुछ ही दिनों में पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई।

कैसे रचा गया घटना का षड्यंत्र

घटना की शुरुआत प्रेम से होती है। आरोपी की बहन का लव अफेयर हिमांशु नाम के लड़के से चल रहा था। जिसकी जानकारी आरोपी प्रिंस को हुई जिससे प्रिंस काफी नाराज हुआ और अपनी बहन को हिमांशु से दूर रहने के लिए कहा लेकिन हिमांशु के प्यार में पागल आरोपी की बहन ने एक ना सुनी इसके बाद शुरू हुई यह कहानी।

न्यूज़ क्रांति को जानकारी देते हुए एसआई कुसुम कुमार केसरी ने बताया कि पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों से पूछताछ के दौरान पता चला है कि आरोपी प्रिंस की बहन हिमांशु नाम के लड़के से प्रेम करती थी। जिस पर प्रिंस ने आपत्ति जताई लेकिन फिर भी बहन मान नहीं रही थी। जिसके बाद प्रिंस ने नितीश एवं रॉकी नाम के दो लोगों के साथ मिलकर बहन के प्रेमी की हत्या की साजिश रच डाली आरोपी प्रिंस ने बहन की प्रेमी की हत्या के लिए चार लाख की सुपारी दे दी । सुपारी लेने वाले नीतीश और रॉकी प्रिंस की बहन के प्रेमी हिमांशु की खोजबीन में जुट गए। 6 जनवरी को नीतीश और रॉकी वारदात को अंजाम देने के लिए हिमांशु के घर पहुंचे, जहां हिमांशु और उसका दोस्त राहुल मौजूद था। देर रात और रॉकी ने हिमांशु पर गोली चलाई हिमांशु को बचाने के लिए बीच में राहुल आ गया। जिससे राहुल के सिर में गोली लगी और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। उसके बाद हत्यारों ने हिमांशु को चाकू से लहूलुहान कर दिया और रफूचक्कर हो गए।

घटना की जानकारी मिलते ही आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने घायल हिमांशु को उपचार के लिए हॉस्पिटल में भर्ती करवाया और आरोपियों की तलाश में जुट गई। उसके बाद पुलिस ने सुपारी देने वाले भाई प्रिंस को डालमिया नगर थाना क्षेत्र के प्रयाग बिगहा गांव से गिरफ्तार किया। जिसके बाद जब जब आरोपी प्रिंस से पूछताछ की गई तो उसने पूरे घटना का राज उगल दिया। और सुपारी देने की बात कबूल कर ली पुलिस ने प्रिंस के बताने के बाद नीतीश और रॉकी को भी गिरफ्तार कर लिया।

मोबाइल फोन से आरोपियों तक पहुंची पुलिस

आपको बता दें घटना के बाद छानबीन कर रही पुलिस ने मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर रखा है एवं उसके बाद कॉल डिटेल को निकाला गया जिसमें प्रिंस की लगातार दो लोगों से बातचीत हो हुई। उस बातचीत के बारे में जांच की गई जिसके बाद चार लाख की सुपारी देने का मामला सामने आया जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया और वैधानिक कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया।

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।