logo
बनिया की उपजाति वैश्य पोद्दार के साथ सरकार कर रही अन्याय : पंकज पोद्दार
 

सहरसा(बिहार):: सलखुआ प्रखंड के बहुअरवा पंचायत भवन में आरक्षण की मांग को लेकर वैश्य पोद्दार युवा शक्ति मोर्चा के बैनर तले वैश्य पौद्दार समुदाय के विभिन्न गांव से वैश्य समाज के लोग एकत्रित हो एक बैठक आयोजित की। आयोजित बैठक में कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते सभी वैश्य पोद्दार ने राज्य सरकार व केंद्र के जाती गजट में एकजुट हो संगठन की मजबूती प्रदान करते वैश्य पोद्दार को पिछड़ा वर्ग से अत्यंत पिछड़ा वर्ग में शामिल करने को लेकर आवाज बुलंद किया।

आयोजित बैठक कुंदन पोद्दार की अगुआई व चंदन पोद्दार के देखरेख में सम्पन्न हुआ। बैठक की अध्यक्षता सलखुआ प्रखंड अध्यक्ष पंकज पोद्दार व मंच संचालन डॉ श्याम पोद्दार ने किया। सभी वैश्य पोद्दार ने एकजुट हो कहा कि सरकार वैश्य पोद्दार जाती के साथ अन्याय कर रही है। सभी ने एकजुट हो हुंकार भरते एक शब्दो मे कहा कि जबतक वैश्य पोद्दार को आरक्षण नही मिल जाता तबतक आरक्षण की मांग को लेकर जिले के सभी प्रखंड में बैठक कर एकजुट हो राज्य व केंद्र एवं राजनीतिक पटल पर इस मुद्दे को उठाया जाएगा। वैश्य पोद्दार सलखुआ के प्रखंड अध्यक्ष पंकज पोद्दार ने अपने सम्बोधन में कहा कि वैश्य पोद्दार समाज के लोग मजदूरी कर अपने परिवार को पाल बच्चों को उच्च शिक्षा दिलाने के बाद आरक्षण की दीवार मेधावी छात्रों के भविष्य में बाधा उतपन्न कर रही है। 

वैश्य पोद्दार समुदाय को राज्य व केंद्रीय सूची में आरक्षण देते इस जाति को ईबीसी श्रेणी में समायोजन की आवश्यकता है। वहीं वैश्य पोद्दार के सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड अध्यक्ष संजय पोद्दार ने कहा कि बनिया की उपजाति वैश्य पोद्दार विकास की मुख्यधारा से वंचित है। राजनीतिक, शैक्षणिक, आर्थिक विकास के लिए केंद्र व राज्य में अत्यंत पिछड़ी जाति की सूची में शामिल किया जाना चाहिए। वहीं मंच संचालन कर रहे डॉ श्याम पोद्दार ने कहा कि आज के बदलती दुनिया में वैश्य पोद्दार विकासशील युग में भी यह बहुत पिछड़ी हुई है इसलिए जिले के आज सातवें प्रखंड में वैश्य पोद्दार का बैठक हुआ है जबतक वैश्य पोद्दार को आरक्षण नहीं मिल जाता हमलोग चुप नहीं बैठेंगे। वहीं बैठक की अगुआई कर रहे चंदन पोद्दार ने कहा कि आज हर क्षेत्र में चाहे वे नॉकरी हो या मेधावी छात्रों के अच्छे कॉलेज में नामांकन में इस जाति को आरक्षण की जरूरत है। वहीं विजय पोद्दार ने कहा कि वैश्य पोद्दार को सामाजिक, राजनीति व नौकरी में भागीदारी मिलनी चाहिए। साथ ही कहा कि सहरसा जिले में वैश्य पोद्दार जाती के लिए जल्द ही छात्रों की सुविधा के लिए पोद्दार छात्रावास का निर्माण कराया जाए। तभी वैश्य पोद्दार समाज का उत्थान हो सकेगा चाहे इसके लिए अनशन या आंदोलन करना पड़े वैश्य पोद्दार अपने हक के लिए तैयार है। वहीं उमेश पोद्दार ने अपने सम्बोधन में कहा कि सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक व शैक्षणिक रूप से समाज को आगे बढ़ाने के लिए जागरूकता के साथ ही वैश्य पोद्दार की एकजुटता जरूरी है। आजादी के 74 साल बाद भी वैश्य समाज अबतक पिछड़ा वर्ग में दर्ज है इसके आर्थिक रुप से उत्थान के लिए सरकार को विशेष ध्यान देने की जरुरत है। वैश्य पोद्दार समाज का विकास आज भी नहीं हो सका है।वैश्य समाज को ईबीसी में शामिल किया जाना चाहिए। ताकि विकास कर सके। 

रिपोर्ट : गोपाल कृष्ण

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।